SHARE

दिवाली की शुरुआत के साथ ही दिवाली की खरीददारी भी शुरु हो जाती है। मंत्रालय परिसर में भी इसी तरह का एक स्टॉल लगाया है जहां पर मानसिक रुप से कमजोर बच्चों द्वारा तैयार किये गए दिवाली के सामानों को बेचने के लिए लगाया गया है। इन बच्चों द्वारा तैयार किए गए इन सामानों को मंत्रालय परीसर के पास बेचने के लिए रखा गया है।

यह भी पढ़े-  दिवाली में इन बातों का रखें ध्यान और रहें सुरक्षित !

पेण तालुका के ग्रामीण भाग से बच्चो को अपने पैरो पर खड़ा होने के लिए सुहित जीवन ट्रस्ट 2004 से काम कर रहा है। इस ट्रस्ट की ओर से 6 से 18 साल के बच्चों को शिक्षा की व्यवस्था दी जाती है तो वही दूसरी ओर 18 साल के उपर के छात्रों को अपनी व्यवसायिक कला भी दिखाने का मौका ये ट्रस्ट देता है। 2004 में शुरु की गई इस ट्रस्ट में मौजूदा समय में 120 से भी ज्यादा छात्र है।

सुहित जीवन ट्र्स्ट की अध्यक्षा डॉ. सुरेखा पाटील का कहना है की हमारी संस्था का मुख्य कार्य मानसिक रुप से कमजोर बच्चों को उनके पैरो पर खड़ाकर उन्हे सामाजिक सम्मान दिलाना है। उनकी कला को लोगों के सामने लाना ही ट्रस्ट का उद्देश है।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें