Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
51,38,973
Recovered:
44,69,425
Deaths:
76,398
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
45,534
1,794
Maharashtra
5,90,818
37,236

मुंबई: नालासोपारा में ऑक्सिजन न मिलने से 10 मरीजों की हुई मौत

जबकि अस्पताल प्रशासन का कहना है कि, मरीजों की मौत उनकी क्रिटिकल स्वास्थ्य के कारण हुई है, न कि ऑक्सीजन की कमी की वजह से।

मुंबई: नालासोपारा में ऑक्सिजन न मिलने से 10 मरीजों की हुई मौत
SHARES

कोरोना काल में मुंबई (Mumbai) से सटे पालघर (palghar) जिले के नालासोपारा (nalasopara)से एक बेहद ही चौकानें वाली खबर सामने आई है। खबर के अनुसार, नालासोपारा में ऑक्सीजन (oxygen) की कमी से एक घंटे में 10 मरीजों की मौत हो गई। चौंकाने वाली यह घटना नालासोपारा के विनायक अस्पताल और रिद्धिविनायक अस्पताल में हुई। पीड़ित व्यक्तियों के परिजनो ने अस्पताल में हंगामा भी किया।

जबकि अस्पताल प्रशासन का कहना है कि, मरीजों की मौत उनकी क्रिटिकल स्वास्थ्य के कारण हुई है, न कि ऑक्सीजन की कमी की वजह से।

गौरतलब है कि, महाराष्ट्र (maharashtra) में कोरोना (Coronavirus) रोगियों की संख्या में जबरदस्त वृद्धि हो रही है। कई अस्पतालों में ऑक्सीजन और रेमेडिसीविर इंजेक्शन की कमी की खबरें सामने आई हैं। यही कारण है कि मरीज अपनी जान गंवा रहे हैं। विनायक अस्पताल और रिद्धिविनायक अस्पताल दोनों में सोमवार शाम को ऑक्सीजन की कमी हो गई थी। नतीजतन, दोनों अस्पतालों में एक घंटे के अंदर 10 मरीजों की मौत हो गई। इन दोनों घटनाओं के बाद सोमवार रात अस्पताल के बाहर पीड़ित परिवार और उनके परिजनों ने काफी हंगामा किया।

इसके अलावा अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में मनसे (mns) कार्यकर्ता भी एकत्रित हुए थे। मरीजों की मौत को लेकर उनके

परिजनों ने अस्पताल प्रशासन से जवाब मांगा है।जबकि अस्पताल प्रशासन का कहना है कि, इन मरीजों की मौत आक्सीजन की कमी से नहीं हुई है, बल्कि इन सभी की तबियत काफी बिगड़ गई थी, जो कंट्रोल से बाहर हो गया। यही कारण है कि, इनकी मौत हो गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, क्षेत्र के विधायक क्षितिज ठाकुर (mla kshitij thakur) ने कहा है कि, वे केंद्र से ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए पत्र लिखेंगे।

इस बीच, ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी के कारण रविवार को ठाणे के पार्किंग प्लाजा कोविड सेंटर से 26 मरीजों को ग्लोबल अस्पताल में स्थानांतरित कर देने की खबर सामने आई है। इसके अलावा कुछ रोगियों को इलाज के लिए बेड भी नहीं मिलने से जमीन पर बैठकर इलाज करवाने की भी खबर सामने आई है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें