शताब्दी अस्पताल में 3.30 घंटे तक एक भी सर्जन नहीं

 Kandivali
शताब्दी अस्पताल में 3.30 घंटे तक एक भी सर्जन नहीं

कांदिवली - सरकारी अस्पतालों की खस्ता हालत किसी से छुपी नहीं है। सुविधाओं के नाम पर कई बार तो सरकारी अस्पतालों में मरीजों को कई घंटों तक इंतजार करना पड़ता है। ताजा मामला है कांदिवली के शताब्दी अस्पताल का।

माला झा नाम की एक महिला के साथ मारपीट के एक मामले में कांदिवली पुलिस की महिला कॉन्स्टेबल एस पी जाधव ने करीब 8 बजे शताब्दी अस्पताल मेडिकल टेस्ट के लिए ले गए। मेडिकल टेस्ट आधे घंटे में तो हो गया, लेकिन टेस्ट की रिपोर्ट पर साइन करने के लिए अस्पताल में रात 8 बजे से 11.30 बजे तक एक भी सर्जन अस्पताल में मौजूद नहीं था।

जब कुछ लोगों द्वारा अस्पताल के डीन को बार बार फोन किया गया तब कहीं 3.30 घंटे बाद जाकर सर्जन ने इस रिपोर्ट पर साइन किया।

Loading Comments