KEM अस्पताल के ICU में आग, 4 महीने का बच्चा झुलसा, वाराणसी से लाया गया था इलाज करवाने

घटना गुरूवार तड़के 3 बजे की बताई जाती है। खबर के अनुसार इस बच्चे की शरीर से लगी ईसीजी मशीन में शॉर्ट सर्किट हो गया जिससे आग लग गई।

SHARE

केईएम अस्पताल के पीडियाट्रिक इंटेसिव केयर यूनिट में आग लग गई। इस आग से एक चार महीने का बच्चा झुलस गया। घटना गुरूवार तड़के 3 बजे की बताई जाती है। खबर के अनुसार इस बच्चे की शरीर से लगी ईसीजी मशीन में शॉर्ट सर्किट हो गया जिससे आग लग गई। बच्चे को इस समय  डॉक्टरों की निगरानी में ICU में रखा गया है, जहां उसकी स्थिति ठीक नहीं है।

क्या है मामला?

NBT में छपी रिपोर्ट्स के अनुसार बच्चे का नाम प्रिंस है, जिसके दिल में छेद है। यूपी के वाराणसी में रहने वाले प्रिंस के परिवार ने इलाजे के लिए मंगलवार को ही उसे केईएम अस्पताल में दाखिल कराया था। लेकिन दाखिल कराने के 48 घंटे बाद ही आग लग गयी। आग देखकर कुछ नर्सों ने शोर मचाया, शोर सुन कर तत्काल कुछ गार्ड्स अंदर आ गए और आग बुझाया। जिससे दूसरे बच्चे आग की चपेट में नहीं आए. सूत्रों के मुताबिक 10 मिनट में ही आग बुझा दी गई। घटना की जानकारी मिलने के बाद डॉक्टर और डीन पहुंचे।  

केईएम के डीन डॉ. देशमुख ने बताया है कि, प्रिंस के बायें हाथ और कान जल गए हैं, प्रिंस को स्किन ग्राफ्ट की भी जरूरत पड़ सकती है। साथ ही उसकी पीठ भी जल गई है। बच्चे को 24 घंटे उन्हें मॉनिटर किया जा रहा है। साथ ही उस पर ट्रीटमेंट का असर हो रहा है और दूसरे बच्चे सेफ हैं।

डॉक्टरों ने आगे बताया यूनिट में 40 बेड हैं और सिर्फ प्रिंस के बेड पर ही आग लगी थी। अस्पताल के सूत्रों ने बताया है कि पीडियाट्रीक इंटेसिंव यूनिट एक साल पुरानी भी नहीं है। डीन ने कहा कि, इस घटना से पूरा अस्पताल सकते में है। इसके पहले ऐसी घटना कभी नहीं हुई थी। उन्होंने आगे कहा कि, अब अस्पताल की सभी ईसीजी मशीनों का इंस्पेक्शन किया जा रहा है।

 इस बाबत भोईवाड़ा पुलिस स्टेशन में एक मेडिको-लीगल केस भी दर्ज कराया गया है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें