• सीने में घुसा लोहे का रोड सिर से निकला बाहर, डॉक्टरों ने बचाई जान
  • सीने में घुसा लोहे का रोड सिर से निकला बाहर, डॉक्टरों ने बचाई जान
SHARE

यूँ ही डॉक्टरों को भगवान नहीं कहा जाता, मजदूरी कर अपने परिवार का पेट पालने वाले राकेश जाधव के साथ जो हुआ उसे केवल भगवान का ही सहारा था। दरअसल राकेश एक निर्माणाधीन बिल्डिंग में काम करते 13 फूट की ऊंचाई से नीचे गिर पड़ा,और उसके सीने में एक लोहे का रॉड घुस गया जो सिर से होते हुए बाहर निकल आया था। आख़िरकार डॉक्टरों ने राकेश को बचा लिया, लेकिन कैसे पढ़िए इस रिपोर्ट में।


क्या था मामला? 
मंगलवार 20 नवंबर के दिन चेंबूर की एक निर्माणाधीन बिल्डिंग में राकेश जाधव काम कर रहा था। काम करते समय राकेश का संतुलन अचानक बिगड़ गया और वह 13 फूट नीचे आ गिरा। इस हादसे में राकेश के सीने में एक 3 फूट लोहे का रॉड घुस गया जिसका एक सिरा सिर के रास्ते बाहर निकल आया। राकेश का काफी खून बह चुका था, उसे तत्काल जेन अस्पताल में दाखिल कराया गया।


डॉक्टरों ने पाई सफलता 
अस्पताल के डॉक्टरों ने भी इस एक चुनौती के रूप में लेते हुए राकेश का इलाज करना शुरू किया। न्यूरोसर्जन डॉ बटुक डिओरा, डॉ. प्रमोद मस्जीद, डॉ. प्रमोद काले सहित अन्य डॉक्टरों ने मिल कर राकेश का इलाज करना शुरू किया। आखिर 5 घंटे कठिन ऑपरेशन करने के बाद डॉक्टरों ने राकेश के शरीर से सफ़लतपूर्वक लोहे की रॉड बाहर निकालने में सफलता पाई। डॉक्टरों के मुताबिक अब राकेश की स्थिति स्थिर है लेकिन जख्म को भरने में समय लगेगा।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें