Advertisement

90 फीसदी मरीज बिल्डिंगों से: वॉचमैन, बाई और दूध वालों का होगा कोरोना टेस्ट

मुंबई (Mumbai) में पाए जाने वाले 90 फीसदी से ज्यादा मरीज बिल्डिंगों में पाए जाते हैं। इसलिए, BMC ने अब पॉश इलाको में कोरोना टेस्ट करने का निर्णय लिया है।

90 फीसदी मरीज बिल्डिंगों से: वॉचमैन, बाई और दूध वालों का होगा कोरोना टेस्ट
SHARES

मुंबई (Mumbai) में घर का काम करने वाली बाई, समाचार पत्र बांटने वालों और दूध विक्रेताओं का कोरोना (covid19) टेस्ट किया जाएगा।

BMC ने कोरोना मरीजों की बढ़ती हुई संख्या के कारण यह बड़ा फैसला लिया है। वर्तमान समय में मुंबई में कोरोना (coronavirus in mumbai) के रोगियों में लगातार वृद्धि हो रही है। मुंबई (Mumbai) में पाए जाने वाले 90 फीसदी से ज्यादा मरीज बिल्डिंगों में पाए जाते हैं। इसलिए, BMC ने अब पॉश इलाको में कोरोना टेस्ट करने का निर्णय लिया है।

पिछले कुछ दिनों से मुंबई में हर दिन 1,000 से अधिक मरीज सामने आ रहे है। 90 फीसदी से ज्यादा मरीज बिल्डिंग में रहने वाले हैं, जबकि सिर्फ 10 फीसदी मरीज स्लम इलाको से आते हैं। इसलिए, BMC ने इस संबंध में ध्यान देते हुए बिल्डिंग इलाके में अधिक टेस्ट करना शुरू कर दिया है।

बिल्डिंग इलाके में समाचार पत्र बांटने वाले और दूध विक्रेताओं सहित सुरक्षा गार्डों औऱ इमारत के सभी घर के सदस्यों पर कोरोना परीक्षण किया जाएगा।

BMC की तरफ से बिल्डिंगों में होने वाली कोरोना वृद्धि के प्रसार को रोकने के लिए टेस्ट करने पर बहुत जोर दिया है। भविष्य में भी इस संबंध में कड़े कदम उठाए जाएंगे।

बता दें कि, बुधवार को मुंबई में 1,539 नए कोरोना मामले सामने आए, जिसमें पांच लोगों की मौत हुई। मुंबई में कोरोना पीड़ितों की संख्या 3 लाख 37 हजार 123 तक पहुंच गई है। इनमें से अब तक 11,511 की मौत हो चुकी है। साथ ही, 888 मरीज होकर घर चले गए और अब तक 3 लाख 13 हजार 346 मरीज कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें