Advertisement

मुंबई के 'इस' वॉर्ड में कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही है कमी

इस क्षेत्र में, दोहरे उपचार की अवधि 320 दिन हो गई है। यह अवधि जितनी अधिक होगी, कोरोना मारिजों की ठीक होने की दर उतनी ही अधिक होगी।

मुंबई के 'इस' वॉर्ड में कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही है कमी
SHARES

मुंबई (mumbai) में पिछले महिने पहले कोरोना (Covid19) मरीजों की संख्या में एक बार फिर से बढ़ोत्तरी देखी जा रही थी, जिसमें अब कमी आ रही है।

इसी कड़ी में मुंबई के ही परेल (parel) और शिवड़ी (shivdi) क्षेत्रों में भी कोरोना (Coronavirus) रोगियों की संख्या बढ़ने के बाद फिर से घट रही है। पिछले कुछ दिनों से यहां प्रति दिन मात्र 10 नए मरीज ही सामने आ रहे हैं, जबकि पहले यह आंकड़ा अधिक था। कोरोना के इस घटते आंकड़ों के बाद स्थानीय प्रशासन और आम लोगों ने खुशी जताई है।

इन क्षेत्रों में कोरोना मारिजों की वृद्धि दर घटकर 320 दिन हो गई है। इसके अलावा, एफ दक्षिण वॉर्ड में मरीजों की संख्या परेल और शिवड़ी इलाके में तेजी से घट रही है।

इसके अलावा मुंबई के मस्जिद बंदर (masjid), डोंगरी (dongi) और गिरगाम-मुंबादेवी (mumbadevi) के सी और बी वॉर्ड में रोगियों की संख्या घट रही है, हालांकि इन क्षेत्रों में कम आबादी के कारण कोरोना विकास दर पहले से ही कम थी।

इसके पहले गणेशोत्सव (ganeshotsav) के बाद सितंबर के महीने में मुंबई में मरीजों की संख्या में जबरदस्त वृद्धि हुई थी। परेल, लालबाग, शिवड़ी के स्लम इलाक़ों में काफी तेजी से कोरोना के मरीज बढ़े थे।

लेकिन, पिछले कुछ महीनों से इस क्षेत्र में नगरपालिका द्वारा लगातार किए जा रहे कार्यों के कारण, रोगियों की संख्या में वृद्धि नियंत्रण में आ गई है।

BMC पूरे मुंबई भर में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए काम किया जा रहा है। इसमें कोरोना रोगियों के संपर्क में आये हुए लोगों को खोजना, टेस्टिंग बढ़ाना, कोविड सेंटर को बढ़ाना, जैसे अन्य कार्य भी किए गए, नतीजतन, रोगियों की संख्या घटती दिख रही है।

इस क्षेत्र में, दोहरे उपचार की अवधि 320 दिन हो गई है।  यह अवधि जितनी अधिक होगी, कोरोना मारिजों की ठीक होने की दर उतनी ही अधिक होगी।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय