Advertisement

अगस्त के पहले हफ्ते से कस्तूरबा हॉस्पिटल में शुरू होंगे डेल्टा प्लस की जांच

मुंबई में अब तक डेल्टा प्लस के 600 संदिग्ध मरीजों की पहचान की जा चुकी है। हालांकि डेल्टा प्लस का सिर्फ एक ही मरीज मिला है और वह ठीक भी हो गया है।

अगस्त के पहले हफ्ते से कस्तूरबा हॉस्पिटल में शुरू होंगे डेल्टा प्लस की जांच
SHARES

मुंबई (Mumbai) में कोरोना (covid19) की दूसरी लहर पर भले ही काफी हद तक काबू पा लिया गया है लेकिन डेल्टा प्लस (delta plus) के नए वैरियंट से खतरा अभी भी बना हुआ है।डेल्टा प्लस के इलाज के लिए BMC ने अमेरिका (america) से साढ़े 6 करोड़ की मशीन मंगवाई थी, जिसे कस्तूरबा हॉस्पिटल (kasturba hospital) में लगा दिया है। बताया जा रहा है कि, इसका ट्रायल अगस्त के पहले हफ्ते से शुरू होगा।

मुंबई में अब तक डेल्टा प्लस के 600 संदिग्ध मरीजों की पहचान की जा चुकी है। हालांकि डेल्टा प्लस का सिर्फ एक ही मरीज मिला है और वह ठीक भी हो गया है।

मुलुंड में महानगर पालिका (BMC) के कोविड सेंटर (Covid center) में काम करने वाली एक महिला डॉक्टर को वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद कोरोना हो गया था। इस डेल्टा प्लस मशीन में उसके स्वाब के नमूने का भी परीक्षण किया जाएगा। यह मशीन कोरोना का कौन सा म्यूटेंट मौजूद है इसका पता लगा सकेगी और कम समय में उचित और ज्यादा रिजल्ट दे सकेगी।

फिलहाल अभी इसका टेस्ट पुणे में ही होता है। उसकी रिपोर्ट आने में दो महीने लगते हैं। लेकिन इस मशीन से मात्र चार दिन में रिपोर्ट मिल जाएगी। डेल्टा प्लस मशीन से रोजाना 200 से 300 टेस्ट किए जा सकते हैं। एक टेस्ट में 10 से 12 हजार रुपये खर्च होंगे। हालांकि bmc की तरफ से यह टेस्ट मुफ्त में होंगे।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें