SHARE

बारिश शुरू होते ही मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियां भी सिर उठाने लगती हैं। हालांकि इसे रोकने के लिए प्रसाशन अपने स्तर पर कई उपाय करती हैं। बीएमसी के स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी किए गये एक रिपोर्ट के अनुसार 29 अगस्त को हुई जोरदार बारिश से मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियों की चपेट में काफी लोग आएं।

यह भी पढ़े : मुंबई में डेंगू के मामलों में 265 प्रतिशत वृद्धि हुई

रिपोर्ट के अनुसार सितंबर महीने में मात्र 11 दिनों में डेंगू के 102 मरीजो की पहचान हुई है। जनवरी से अगस्त इन 8 महीनो में डेंगू के 293 मरीज सामने आएं थे जिनमे से दो की मौत हो गई थी। मौसम में होते परिवर्तन से शरीर का तापमान भी कम और अधिक होता रहता है इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी प्रभावित होती है। रिपोर्ट के अनुसार सितंबर महीने के 11 दिनों में मलेरिया के 217 मरीज सामने आएं. मात्र 11 दिनों में 217 मरीज, यह आंकड़ा वाकई में काफी चिंताजनक है।

यह भी पढ़े : डेंगू प्रचार अभियान पर सवा 8 करोड़ खर्च

जनवरी से अगस्त महीने में 1048 मरीज इन बीमारियों की चपेट में आएं, जबकि इन्ही में से एक मरीज की उपचार के दौरान मौत हो गयी। इसके साथ ही डेंगू, मलेरिया सहित सितंबर महीने के इन 11 दिनों में लेप्टो के 24, स्वाइन फ्लू के 20, गैस्ट्रो के 200, हेपेटाईटस के 50 और कालरा के 1 मरीज की पहचान हुई। अगर इन बीमारियों पर रोक नहीं लगाई गई तो आने वाले दिनों में मरीजों की संख्या में और भी वृद्धि देखने को मिल सकती है।


डेंगू के लक्षण

अचानक बुखार का होना

बदन दर्द

उल्टी का होना

त्वचा पर चकत्ते का होना

आँखों में जलन होना

खून में प्लेटलेट्स की संख्या में कमी होना


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दें) 

 

 



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें