Advertisement

एक बार फिर धारावी हुआ कोरोना मुक्त

25 दिसंबर, 2020 को धारावी में सबसे पहले जीरो मरीज मिले थे। उसके बाद कुछ दिनों में मरीजों की संख्या बार-बार बढ़ती गई। लेकिन पिछले दो साल में धारावी में 7 बार एक भी मरीज नहीं मिला है।

एक बार फिर धारावी हुआ कोरोना मुक्त
SHARES

मुंबई (Mumbai) के लिए अच्छी खबर है। मुंबई में स्थित एशिया (asia) की सबसे बड़ा स्लम इलाका धारावी (dharavi में कोरोना (covid19) मरीजों की संख्या एक बार फिर शून्य हो गई है। धारावी में अब तक मरीजों की संख्या सात बार कम होकर जीरो हो गई है। आखिरकार मुंबई महानगर पालिका (bmc) और धारावीकरों ने एक बार फिर से यह कर दिखाया।

धारावी में एक भी मरीज नहीं मिलने का पहला मामला पिछले साल 25 दिसंबर को सामने आया था। 25 दिसंबर, 2020 को धारावी में सबसे पहले जीरो मरीज मिले थे। उसके बाद कुछ दिनों में मरीजों की संख्या बार-बार बढ़ती गई। लेकिन पिछले दो साल में धारावी में 7 बार एक भी मरीज नहीं मिला है।

इस बीच मेयर किशोरी पेडनेकर (mayor kishori pednekar) ने कहा, 'यह मुंबई महानगर पालिका की सफलता है। इसके लिए धारावीकरों का स्वागत किया जाना चाहिए। धारावी 7 बार जीरो पर आ चुकी है। नगर निगम के अधिकारियों ने पूरी प्लानिंग की।  लोगों ने उन्हें भरपूर सहयोग भी दिया। धारावी में कोरोना मरीज शून्य पर आ गए है तो क्या हुआ, तो भी नियमों का पालन करना जरूरी है।

गौरतलब है कि, पिछले साल मार्च महीने में कोरोना ने जब मुंबई में दस्तक दी थी तो उसके बाद धारावी करोना का हॉटस्पॉट (hotspot) बन गया था। बीएमसी ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जो नियम और कानून बनाये वह पूरी दुनिया में धारावी पैटर्न के नाम से जाना गया, जिसे आज भी सराहा जाता है।

यह भी पढ़ें: धारावी फिर से कोरोना मुक्ति की राह पर

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें