Coronavirus cases in Maharashtra: 192Mumbai: 56Islampur Sangli: 24Pune: 18Pimpri Chinchwad: 13Nagpur: 10Kalyan: 6Navi Mumbai: 6Thane: 5Yawatmal: 4Ahmednagar: 3Satara: 2Panvel: 2Ulhasnagar: 1Aurangabad: 1Ratnagiri: 1Vasai-Virar: 1Sindudurga: 1Kolhapur: 1Pune Gramin: 1Godiya: 1Palghar: 1Gujrath Citizen in Maharashtra: 1Total Deaths: 5Total Discharged: 28BMC Helpline Number:1916State Helpline Number:022-22694725

इमान गई अबुधाबी, 81 दिन में घटा 329 किलो वजन


इमान गई अबुधाबी, 81 दिन में घटा 329 किलो वजन
SHARE

मिस्र से भारत इलाज करवाने आई दुनिया की सबसे मोटी महिला इमान अहमद आखिरकार गुरुवार को सैफी हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो गई। अब इमान का इलाज अबु धाबी के बुरजील हॉस्पिटल में होगा। कई दिनों से इलाज में लगी नर्सों ने इमान को नम आंखों से विदाई की। उन्होंने इमान को चॉकलेट और पिंक ड्रेस गिफ्ट में दी। 500 किलो की इमान का वजन अब सिर्फ 171 किलो रह गया है। गुरुवार को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज करने के बाद उन्हें एक एम्बुलेंस में रखकर एयरपोर्ट तक लाया गया। एअरपोर्ट तक लाने में ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया था।

हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने से पहले इमान से मिलने महाराष्ट्र के स्वास्थ मंत्री दीपक सावंत और बीजेपी नेता शायना एन.सी भी सैफी हॉस्पिटल पहुंचे। दोनों ने इमान को शुभकामनाएं देते हुए उन्हें जल्द ठीक होकर फिर इंडिया आने के लिए कहा। यही नहीं इस मौके पर वीपीएस अस्पताल के डॉक्टर भी मौजूद थे। हॉस्पिटल छोड़ने से पहले इमान ने नर्सों के साथ मिलकर एक बॉलीवुड सांग गुनगुनाया। इमान हॉस्पिटल में क्रेन के सहारे दाखिल हुईं थीं और दो महीने बाद वे स्ट्रेचर पर बैठकर अपने स्पेशल रूम से बाहर निकली। 

इमान अब 171 किलो की हो गई हैं और बिलकुल फिट हैं। कुछ कारणों से इमान के डिस्चार्ज का पेपर नहीं तैयार किया गया था जो अब बनकर तैयार है। शाम 4:30 बजे वह मुंबई के एअरपोर्ट से अबुधाबी के लिए रवाना होगी। सैफी अस्पताल से एअरपोर्ट तक ग्रीनकॉरीडोर बनाया गया है जिससे इमान को पहुंचने में कोई तकलीफ न हो -  डॉ. दिपक सावंत, स्वास्थ्य मंत्री

क़ानूनी प्रक्रिया के कारण तैयार डिस्चार्ज पेपर तैयार होने में कुछ लेट हो गया। इमान अब ठीक है। वह यात्रा कर सकती है।उसके स्वास्थ्य को लेकर जो अफवाह फ़ैल रही है वह निराधार है। सैफी अस्पताल के डॉक्टरों ने अच्छा काम किया है- शायना एनसी, बीजेपी की नेता

इमान की बहन शायमा ने सैफी अस्पताल के डॉक्टरों का आभार माना. उन्होंने आशा जताई की अबुधाबी में ईलाज के बाद इमान चलने लगेगी। शायमा ने कहा कि अबुधाबी में इमान का उपचार कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) के माध्यम से मुफ्त में किया जाएगा।

सैफी अस्पताल के बाहर इमान को देखने के लिए लोगो  की  भारी भीड़ जमा हुई थी.

इलाज में आया 3 करोड़ का खर्च

डॉ. लकड़ावाला ने कहा कि इमान की सेहत में आए सुधार से हम काफी खुश हैं और हम उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए शुभकामनाएं देते हैं। अबू धाबी स्थित वीपीएस बुरजील अस्पताल के बारे में डॉ. लकड़ावाला ने ही इमान के परिवारवालों को जानकारी दी थी। सैफी हॉस्टिपल के अधिकारियों के मुताबिक, इमान के इलाज पर 3 करोड़ रुपए का खर्च आया है, जिसमें से 65 लाख रुपए हॉस्पिटल को भारतीयों से दान के रूप में मिले।

इमान 11 फरवरी को सैफी अस्पताल में दाखिल हुई थी और 4 मई को डिस्चार्ज हुई। इन 81 दिनों में उनका 329 किलो वजन कम हुआ।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें