अब ई सिगरेट पर भी लग सकता है बैन!

एफडीए, राज्य और केंद्र सरकार के पास ई सिगरेट को बैन करने के लिए एक प्रस्ताव भेजेगी

SHARE

राज्य में गुटखा पर लगी पाबंदी के बाद अब ई सिगरेट पर भी बैन लगाया जा सकता है। महाराष्ट्र फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने इलेक्ट्रॉनिक निकोटीन डिलीवरी सिस्टम (ईएनडीएस) की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। एफडीए, राज्य और केंद्र सरकार के पास ई सिगरेट को बैन करने के लिए एक प्रस्ताव भेजेगी , इस प्रस्ताव में ई-सिगरेट, ई-शीश और अन्य समान उपकरणों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की जाएगी।

एफडीए आयुक्त का कहना है की ई-सिगरेट पर प्रतिबंध राज्य सरकार से हरी झंडी मिलते ही लगाया जाएगा। इस आशय का प्रस्ताव एक सप्ताह के भीतर भेज दिया जाएगा। यह कदम केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा पिछले साल अगस्त में सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए एक सलाह जारी करने के बाद आया है, जिसमें यह सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है कि देश भर में ईएनडीएस को बेचा, निर्मित, वितरित, व्यापार, आयात या विज्ञापन नहीं किया जाए।

दरअसल भारत में दुनिया में धूम्रपान करने वालों की सबसे अधिक आबादी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, देश में लगभग 106 मिलियन वयस्क धूम्रपान करने वाले हैं, जो भारत को इस श्रेणी में केवल चीन के बाद दूसरा स्थान देता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाने के लिए FDA के प्रस्तावित कदम का स्वागत किया है क्योंकि इनमें सीसा, क्रोमियम, निकल जैसे रसायन होते हैं जो मानव स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें