SHARE

कम मजदूरी के साथ साथ अपनी अन्य मांगो को लेकर आज आजाद मौदान में स्वास्थ्य सेविकाओं द्वारा आंदोलन किया जाएगा। इस आंदोलन में लगभग 4000स्वास्थ्य कर्मचारी हिस्सा लेंगे। इन मांगों को हेल्थकेयर संगठन के अध्यक्ष एडवोकेट प्रकाश देवदास ने उठया था।

कम सैलरी सबसे अहम मुद्दा

महिला को प्रसव के आखिरी दिन तक काम करना पड़ता है अन्यथा उसे भुगतान नहीं किया जाता है। मलाड में एक स्वास्थ कर्मचारी गर्भअवस्था में भी काम के दौरान तनाव के कारण उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़े- सरकार के लिए सफ़ेद हाथी साबित होता मोनो रेल, फ्लॉप होने के बाद भी खर्च में बढ़ोत्तरी

प्रकाश देवदास ने मुंबई लाइव से कहा की 1 अगस्त को, जब मुंबई स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य कर्मचाकियों की एक बैठक हुई, तो इस बैठक में कुछ भी नहीं हुआ और इसिलए हम आज आंदोलन कर रहे है। स मोर्चे में 100 से अधिक स्वास्थ्य केंद्रों के 4000 स्वास्थ्य कर्मचारी उपस्थित होंगे।
कर्मचारियों की मांग है की स्वास्थ्य श्रमिकों को प्रति माह केवल 5000 पैसे मिलते हैं। इन मजदूरी को कम से कम 13 हजार तक बढ़ाया जाना चाहिए और प्रसूति छुट्टी भी देनी चाहिए।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें