Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
54,05,068
Recovered:
48,74,582
Deaths:
82,486
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
34,288
1,240
Maharashtra
4,45,495
26,616

सीरम कंपनी की वैक्सीन की कीमत को लेकर NCP ने उठाया सवाल

मलिक ने आगे कहा कि, महाराष्ट्र के लोगों को सस्ती दरों पर वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए, चाहे वह फाइजर कंपनी की हो या किसी अन्य देश की हो, मुख्यमंत्री जल्द ही एक समिति नियुक्त करेंगे।

सीरम कंपनी की वैक्सीन की कीमत को लेकर NCP ने उठाया सवाल
SHARES

केंद्र सरकार ने राज्यों को कोरोना वायरस (Coronavirus) की वैक्सीन (vaccine) सीधेे निर्माताओं से खरीदने की अनुमति दी है। जिसके बाद सीरम संस्थान (serum institute) ने हाल ही में अपनी वैक्सीन को लेकर नई दरों की घोषणा की। हालाँकि, इन दरों में बड़ा अंतर होने के कारण, NCP के प्रवक्ता और अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक (nawab malik) ने सवाल उठाए हैं।

नवाब मलिक, कोविड सेंटर का दौरा करने के लिए परभणी जिले के दौरे पर थे। इस दौरान उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि, केंद्र सरकार ने 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को टीकाकरण की अनुमति देकर 45 वर्ष केे नीचे वाले सभी नागरिकों का टीकाकरण करने की जवाबदारी से खुद को मुक्त कर लिया है।

कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield vaccine) बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ने हाल ही में अपने वैक्सीन के दामों की घोषणा की।  जिसके अनुसार यह केंद्र को 150 रुपये, राज्यों को 400 रुपये और निजी अस्पतालों को 600 रुपये में कोरोना का एक इंजेक्शन प्रदान करेगा। लोगों को यह बात खटक रही थी कि, आखिर वैक्सीन की कीमत में इतना अंतर क्यों है। क्या केंद्र के लिए एक अलग से टैक्स और राज्य या निजी अस्पतालों के लिए एक अलग टैक्स है, जबकि वैक्सीन का उत्पादन कास्ट एक ही है? 

मलिक ने आगे कहा कि, महाराष्ट्र के लोगों को सस्ती दरों पर वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए, चाहे वह फाइजर कंपनी की हो या किसी अन्य देश की हो, मुख्यमंत्री जल्द ही एक समिति नियुक्त करेंगे। इस मामले पर कैबिनेट में चर्चा हो चुकी है और इस पर फैसला होना बाकी है।

इस बीच केंद्र सरकार के घोषणा के मुताबिक, 1 मई से, देश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी नागरिक अब कोरोना का टीकाकरण लगवा सकेंगे। राज्य सरकार ने इसके लिए परीक्षण शुरू कर दिया है। केंद्र के आदेश के अनुसार, वैक्सीन कंपनियां कुल उत्पादन का 50 प्रतिशत केंद्र को और शेष 50 प्रतिशत राज्य सरकार और निजी अस्पतालों को बेच सकेंगी।

जब महाराष्ट्र सरकार ने सीरम से वैक्सीन खरीद के बारे में पूछताछ की, तो पता चला कि केंद्र सरकार के टीके की खुराक 24 मई तक बुक कर ली है। इसका मतलब यह है कि महाराष्ट्र अगले महीने तक वैक्सीन नहीं खरीद सकेगा।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें