बीडीडी चॉल - 256 से अधिक रहिवासियों ने म्हाडा के साथ पुनर्विकास समझौते पर किया हस्ताक्षर

पहले चरण में पुनर्विकास के दौर से गुजर रही इन इमारतों में कुल 800 किरायेदारों में से 451 अंतिम अनुबंध 2 (भाग 1) के अनुसार पात्र हैं।

बीडीडी चॉल -  256 से अधिक रहिवासियों ने  म्हाडा के साथ पुनर्विकास समझौते पर किया हस्ताक्षर
SHARES

बीडीडी चॉल के 256 से अधिक रहिवासियों ने  म्हाडा के साथ पुनर्विकास समझौते पर हस्ताक्षर किया है।  म्हाडा के लिए इसे एक बड़ी उपलब्धी के रुप में देखा जा रहा है।   बीडीडी चॉल के 256 से अधिक निवासियों ने अंततः पुनर्विकास के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। डीएनए अखबार के अनुसार, 256 में से, 130 किरायेदारों ने अपने समझौते को ऑनलाइन पंजीकृत करने के लिए एनएम जोशी मार्ग स्थित साइट कार्यालय का दौरा किया है। पहले चरण में पुनर्विकास के दौर से गुजर रही इन इमारतों में कुल 800 किरायेदारों में से 451 अंतिम अनुबंध 2 (भाग 1) के अनुसार पात्र हैं। 

451 पात्र किरायेदार

म्हाडा के एक अधिकारी का कहना है की  "वर्तमान में, 451 पात्र किरायेदारों के समझौतों के ऑनलाइन पंजीकरण को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने की आवश्यकता है, जिसके बाद उन्हें ट्रांजिट शिविरों में स्थानांतरित कर दिया जाएगा।  लगभग 400 निवासियों को उनके वर्तमान प्रवास के 2 किलोमीटर के भीतर ट्रांजिट आवास आवंटित किया गया है

म्हाडा के अधिकारी ने डीएनए  अखबार से बात करते हुए कहा की हमने ट्रांजिट कैंपों को अंतिम रूप दे दिया है जो उनके वर्तमान प्रवास के 2 किलोमीटर के भीतर हैं। 256 से अधिक किरायेदारों ने म्हाडा के लिए अपने समझौते पर हस्ताक्षर किए और प्रस्तुत किए हैं। हम समझौतों को पंजीकृत करने की प्रक्रिया में हैं। ”

एनएम जोशी मार्ग के बीडीडी चॉल में 32 इमारतों में से, इसके पहले चरण में, सात को पुनर्विकास के लिए लिया गया है। 400 से अधिक निवासियों को उनके वर्तमान प्रवास के 2 किलोमीटर के भीतर ट्रांजिट दिये गए है।

यह भी पढ़े- तीन चरणों में होगा मोतीलाल नगर का पुनर्विकास

संबंधित विषय