मुंबई-नागपुर सुपर हाईवे के विरोध में दाखिल होंगी 49 याचिका


SHARE

मुंबई नागपुर सुपर हाईवे (समृद्धि महामार्ग) का विरोध दिनों दिन बढ़ता ही जा रहा है। किसानों द्वारा किए जा रहें इस योजना के विरोध में अब तक कुल 7 याचिका दाखिल हो चुकी हैं। यह नहीं जल्द ही नासिक के 49 गाँवों की ओर से और भी 49 याचिकाए दाखिल होने की बात सामने आ रही है। मुंबई हाईकोर्ट, औरंगाबाद खंडपीठ और नागपुर खंडपीठ में मिलाकर कुल 7 याचिकाए दाखिल हुई है। इन सभी याचिकाओं में इस महामार्ग योजना को रद्द करने की मांग की गई है। आने वाले 15 दिनों में 49 गाँव के लोग मुंबई हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करेंगे।

किसान सभा, शेतकरी संघर्ष समिति के समन्वयक राजू देसले ने मुंबई लाइव को बताया कि 700 किमी लंबे इस महामार्ग के लिए बड़े पैमाने पर किसानों की उपजाऊ जमीनों को अधिग्रहण किया जा रहा है। जिसका विरोध कई किसान कर रहे है। देसले ने आगे कहा कि इस योजना को मात्र बिल्डरों के फायदे और किसानों को बर्बाद करने के लिए लाया जा रहा है। देसले ने इस परियोजना को रद्द करने की मांग करते हुए कहा कि हमने अपनी कई मांगो को सरकार के सामने पेश किया लेकिन सरकार के कान में जूं तक नहीं रेंगी, इसीलिए हमने कोर्ट की शरण ली।

इतनी बड़ी संख्या याचिका दाखिल होने से महाराष्ट्र राज्य सडक विकास निगम (एमएसआरडीसी) की यह योजना प्रभावित हो सकती है। इस बाबत जब एमएसआरडीसी के अधिकारीयों से सम्पर्क किया गया तो उनसे कोई सम्पर्क नहीं हो सका।


डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

(नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 



संबंधित विषय
ताजा ख़बरें