Advertisement

कफ परेड में बनेगा देश का सबसे बड़ा SRA टाॅवर

इस टॉवर में किसी स्मार्ट शहर की तरह ही सभी विशेषताएं होंगी। इमारतों में सीसीटीवी, सुरक्षा, वाईफाई, अपशिष्ट प्रबंधन, ऊर्जा प्रबंधन जैसी कई सुविधाएं होंगी।

कफ परेड में बनेगा देश का सबसे बड़ा SRA टाॅवर
SHARES

मुंबई(mumbai) के कफ परेड (Cuff Parade) इलाके में झोपड़पट्टी पुनर्वसन योजना (Slum rehabilitation plan - एसआरए) के तहत सबसे ऊंची बिल्डिंग बनाई जाएगी। यह बिल्डिंग 42 मंजिला होगी। यह 42 मंजिला इमारत एसआरए (SRA) के तहत बनी देश की सबसे ऊंची बिल्डिंग होगी। गौरतलब है कि SRA के तहत अब तक अधिकतम 22 मंजिला ऊंची बिल्डिंग ही बनाई गई है। मुंबई का कफपरेड इलाका देश की सबसे महंगे इलाकों में से एक है।

इस टॉवर में किसी स्मार्ट शहर की तरह ही सभी विशेषताएं होंगी। इमारतों में सीसीटीवी, सुरक्षा, वाईफाई, अपशिष्ट प्रबंधन, ऊर्जा प्रबंधन जैसी कई सुविधाएं होंगी। साथ ही इस बिल्डिंग में 4,000 वाहनों को पार्क करने की भी सुविधा होगी।

कफ परेड क्षेत्र में बाबासाहेब अम्बेडकर नगर, गणेश मूर्ति नगर और धोबीघाट जैसे इलाकों की 28 एकड़ की जमीन पर 6000 से अधिक झोपड़ियों का विभिन्न चरणों में पुनर्वास किया जाएगा। इस परियोजना के तहत इस क्षेत्र के 60,000 लोगों के घर का सपना पूरा होगा। प्रत्येक झोपड़ी धारकों को 300 स्क्वायर  वर्ग फुट कारपेट एरिया वाला एक बीएचके का फ्लैट मिलेगा। इस घर की लागत लगभग 2 करोड़ रुपए होगी। और बाकी बचे हुए जमीन पर 100 मंजिला आवासीय टावर बनाया जाएगा।

इस एसआरए परियोजना में 42 मंजिलों के कुल 7 टॉवर होंगे। SRA को इस योजना के परिणामस्वरूप 900 करोड़ रुपये प्रीमियम के रूप में मिलेंगे। जबकि राजस्व विभाग को स्टांप ड्यूटी के रूप में लगभग 3200 करोड़ रुपये मिलेंगे। इसके अलावा बीएमसी को संपत्ति कर के रूप में प्रति वर्ष 100 करोड़ रुपये मिलेंगे।

पढ़ें: SRA झोपड़धारकों के लिए 'आसरा' ऐप हुआ लांच, हर जानकारी होगी इसमें

Read this story in मराठी
संबंधित विषय