Advertisement

म्हाडा सभी आय समूहों के लिए अपने घरों की कीमतें कम करेगी

इस साल फ्लैट के दाम ज्यादा होने के कारण कम लोगों ने फ्लैट के लिए आवेदन किया था और इसके साथ ही कई लोगों ने अपनी फ्लैट को फिर से म्हाडा को दे दिया था। महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (एमएचएडीए) उच्च आय समूह (एचआईजी), मध्यम आय समूह (एमआईजी), लोअर इनकम ग्रुप (एलआईजी) और आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों (ईडब्ल्यूएस) के सभी फ्लैटों का पुनर्मूल्यांकन करने का फैसला किया है।

म्हाडा सभी आय समूहों के लिए अपने घरों की कीमतें कम करेगी
SHARES
Advertisement


महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवलपमेंट अथॉरिटी (एमएचएडीए) द्वारा आवास योजना के पीछे मुख्य उद्देश्य लोगों को किफायती निवास प्रदान करना था। हालांकि, पिछले कुछ सालों से, म्हाडा के फ्लैटों की कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं , जिसके कारण निजी बिल्डरों और मह्डा के फ्लैट के दामों में कोई खास अंतर नहीं रह गया है। कई लॉटरी विजेताओं ने अपने फ्लैटों को उच्च मूल्यों के कारण प्राधिकरण को आत्मसमर्पण कर दिया। जिसके कारण अब म्हाडा ने फैसला किया है की वो अपने फ्लैट की किमतों का पुनर्मूल्यांकन करेगी।

कई लोगों ने महंगे फ्लैट फिर से म्हाडा को वापस लौटायें

इस साल कोंकण बोर्ड के 9000से भी अधिक फ्लेट के लिए आवेदन निकाले गए थे लेकिन प्लैट की किमत ज्यादा होने के कारण उन्ह अच्छा प्रतिसाद नहीं मिला। अत्यधिक मूल्य वाले घरों के कारण 1,738 घरों के लिए कोई आवेदन नहीं किया गया। महंगे घरो के कारण पवई, विरार और लोअर परेल के कई लॉटरी विजेताओं ने अपने घर आत्मसमर्पण कर दिए हैं।

आय वर्ग के अनुसार नया मूल्य जल्द ही हाउसिंग बोर्ड द्वारा घोषित किया जाएगा। इसके अलावा, यूआईजी के लिए घरों की कीमतें भी कम हो जाएंगी, जिससे आवेदकों को अन्य आय वर्ग से भी उनके सपनों का घर मिल सकेगा। मिलिंद म्हैसकर ने कहा कि घरों की कीमतें जितनी कम हो सके उतनी कम रखी जाएंगी। नए घरों की कीमतों के बारे में फैसला करने के लिए एक समिति नियुक्त की जाएगी। म्हाडा अनुभवी पूर्व अधिकारियों से भी मदद मांगेगा जिनके पास कीमतों और मूल्य निर्धारण योजना के बारे में पर्याप्त जानकारी है।

यह भी पढ़े- अब वर्सोवा-विरार सी लिंक, ढाई घंटे का सफर मिनटों में

यह भी पढ़े- विरार में जल्द ही 3300 घरों की लॉटरी निकलेगा म्हाडा

संबंधित विषय
Advertisement