जाने मेट्रों और आरे के बीच क्यों पनपा विवाद?

मुंबई - मेट्रो और आरे का विवाद अपने चरम पर पहुंच गया है। विकास के नामपर एमएमआरसी ने आरे की 33 हेक्टर जमीन हड़प ली थी। साथ ही अब एमएमआरडीए की भी नजर आरे की जमीन पर है। एमएमआरसी और एमएमआरडीए ने आरे से लगभगग 62 हेक्टर जमीन की फिरसे मांग की है। एमएमआरडीए ने 6 एकड़ जमीन इंटीग्रेटेड ऑपरेशन एंड कंट्रोल सेंटर के लिए, वहीं 15 एकड़ जमीन मेट्रो परियोजना के कर्मचारियों के निवास के लिए सरकार से मांगने का दावा किया है। पहले ही एमएमआरसी ने 33 हेक्टर जमीन अपने खेमे में ले रखी है। साथ ही एमएमआरडीए ने इस जमीन की मांग का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा है, इस तरह का दावा एमएमआरडीए के एक अधिकारी ने नाम ना बताने की शर्त पर मुंबई लाइव से किया है। एमएमआरसी और एमएमआरडीए ने आरे पर अपना कब्जा करना चाहा है यह सच है, पर इस प्रयास में उन्हें हम पूरी तरह से कभी सफल नहीं होने देंगे इस तरह का इशारा आरेवासियों ने किया है। अब देखना होगा कि आरे और मेट्रो में शुरु हुआ महाभारत कहां जाकर रुकता है।

 

Loading Comments