'पेड़ों को काटे बिना मेट्रो एक कल्पना मात्र'

मुंबई - मेट्रो-3 और पेड़ एक बड़ा मुद्दा बन गया है, जहां एक ओर सामाजिक संस्थाएं मेट्रो-3 परियोजना में कटने वाले पेड़ों के खिलाफ हैं और इसे रोकने के लिए प्रयासरत हैं। तो वहीं एमएमआरसी को पेड़ काटने के अलावा दूसरा कोई रास्ता नजर नहीं आ रहा है। हालांकि कोर्ट ने इस पर स्टे लगाया हुआ है। इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री आगे आए हैं और उन्होंने भी एमएमआरसी को बिना पेड़ काटे परियोजना पूरी करने को कहा है। पर इस पर एमएमआरसी की व्यवस्थापकीय संचालिका अश्विनी भिडे का कहना है कि बिना पेड़ काटे परियोजना पूरी करना कल्पना मात्र है। साथ ही उन्होंने कहा कि परियोजना में पहले 4 हजार 255 पेड़ों को काटा जाना था पर अब सिर्फ 2800 पेड़ हैं जो मार्ग में अवरोध पैदा कर रहे हैं। 2800 में से केवल 1090 पेड़ काटे जाएंगे बाकी पेड़ों का पुनर्रोपन किया जाएगा। साथ ही एमएमआरसी मेट्रो परिसर में 25 हजार नए पेड़ लगाएगा।

Loading Comments