323 पुनर्वसित गालों में घुसखोरी म्हाडा के लिए बनी सिरदर्द

    Mumbai
    323 पुनर्वसित गालों में घुसखोरी म्हाडा के लिए बनी सिरदर्द
    मुंबई  -  

    म्हाडा के ट्रांजिट कैंप में होनेवाली घुसखोरी अब म्हाडा के लिए सरदर्द बनती जा रही है। दक्षिण मुंबई में उपकर प्राप्त इमारतों के पुर्नविकास के दौरान होनेवाली घुसखोरी का मुद्दा फिर से एक बार लोगों के सामने आया है।

    323 पुनर्रचित गालों में पिछलें कई सालों से घूसखोरी पर कोई भी लगाम ना लगाने के कारण अब लोक लेखा समिती ने इस बाबत म्हाडा से जबाव मांगा है। उपकर प्राप्त हुए 232 पुनर्रचित गालों में घुसखोरी की बात 1998 में दुरुस्ती मंडल के सामने आई थी। म्हाडा ने इसमे शामिल सभी घूसखोरो को निष्काषित कर दिया था। लेकिन इस कार्रवाई को 2005 में स्थगिती दे दी गई थी। जिसके कारण घूसखोरो पर कोई भी सख्त कार्रवाई नहीं हो सकी।

    लोक लेखा समिती की बैठक में ये मुद्दा एक बार फिर से जोर शोर से उठा। लोकलेखा समिती ने म्हाडा से पूछा है की उन्होने इन घूसखोरो को अभी तक क्यो नहीं निकाला। जिसपर म्हाडा ने जवाब देते हुए कहा की इस संबंध में कार्रवाई को स्थगित कर दिया गया था।

    फिलहाल म्हाडा ने गृहनिर्माण विभाग को घूसखोरो के खिलाफ कार्रवाई करने का प्रस्ताव भेजा है। म्हाडा का कहना है की सरकार को इस प्रस्ताव पर कोई कड़ा रुख लेना होगा। साथ ही घूसखोरो के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


    डाउनलोड करें Mumbai live APP और रहें हर छोटी बड़ी खबर से अपडेट।

    मुंबई से जुड़ी हर खबर की ताज़ा अपडेट पाने के लिए Mumbai live के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

    (नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर स्टोरी पर अपनी प्रतिक्रिया दे) 

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.