मिलेगा प्यार...जब छूटेगा नशे का साथ

चर्चगेट- वेलेंटाइन डे के एक दिन पहले मरिन ड्राइव पर वैभव बंसोडे और उनकी पत्नी संजीवनी बनसोडे ने नकली घोड़े पर लोगों को नशे के खिलाफ जागरुक करने का प्रयास किया। इस अभियान का आयोजन महाराष्ट्र नशाबंदी मंडल की ओर से किया गया था। यह संगठन राज्य में मादक पदार्थों की समस्या को रोकने के लिए काम करती है।

वैभव बंसोडे और संजीवनी दोनों ही इस संगठन के सदस्य है। वैभव का मानना है कि अगर प्यार में सबसे बड़ी समस्या है तो वह है नशे की। आज के युवा नशे की ओर बहुत आसानी से आकर्षित हो जाते हैं, और कई बार तो कई रिश्तें सिर्फ और सिर्फ नशें की वजह से ही टूटते हैं।

Loading Comments