योग,फिटनेस और आत्मविश्वास

दादर - 33 वर्षीय मीडिया पेशेवर डॉली जब योग करती हैं तो उसके सभी नियमों को दरकिनार कर देती हैं। आमतौर पर माना जाता है कि पतले शरीर के साथ लोगों को योग करने में आसानी होती है। लेकिन डॉली ने इन बाधाओं से ऊपर उठने का निश्चय किया और उन्होंने पूरे आत्मविश्वास के साथ ऐसा कर दिखाया। योग ने डॉली का विश्वास बढ़ाया और अब वह खुद को इसके द्वारा शांत रख पाती हैं। वे अपने तरीके से दुनिया को बता रही हैं कि स्वास्थ्य फिटनेस को कुछ मापदंडों से प्रतिबंधित नहीं किया जा सकता। वह उन महिलाओं के लिए उदाहरण हैं जो वजनी शरीर के चलते फिटनेस दिनचर्या से दूर भागती हैं डॉली गर्व से कहती हैं कि इन महिलाओं को इसके लिए प्रयास करना चाहिए और यकीनन इसमें वो कामयाब भी होंगी।

Loading Comments