• समाज में भेदभाव रसातल का मार्ग
SHARE

मुंबई - सद्गुरू कहते हैं कि झाडू को हम बहुत पवित्र वस्तु मानते हैं। हमारे प्राचीन तत्व कहते हैं कि झाडू लक्ष्मी का स्वरूप होती है। यदि झाडू पवित्र है तो झाडू लगानेवाला अपवित्र कैसे? जो समाज हर तरह के लोगों में भेदभाव करता है वह रसातल में चला जाता है।

दूसरी बात- यदि घर में झगड़े बहुत होते हैं तो ये उपाय करें - रोज शाम को सूर्यास्त के बाद घर के मुख्य द्वारा के बाहर पके हुए चावल के उपर सरसो के तेल का दीपक जलाएं घर में सुख और शांति आएगी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें