Advertisement

इय उपाय से दुर होंगे दुख


SHARES

मुंबई- नवदुर्गा मतलब नौ प्रकार की देवियां, हमारे शरीर में ही निवास करती है। शैलपुत्री मुलाधार चक्र के शक्ति का नाम है। ब्रह्मचारिणी लिंग चक्र पर विराजित उर्जा को कहते है। चंद्रघंटा नाभी चक्र की उर्जा है। कूष्माण्डा हृद्य चक्र की उर्जा है। स्कंदमाता कंठ चंक्र पर विराजमान शक्ति को कहते है। कात्यायनी आज्ञा चक्र की स्वामिनी है। इन देवियों की पूजा करने के लिए मंदिर में जाने की जरुरत नहीं। आप स्वंय में ही इन देवियों की पूजा कर सकते है। इसके लिए आपको स्वंय को पहचानने की जरुरत है।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement