SHARE

मुंबई - मराठी संस्कृति भारत की समृद्ध संस्कृतियों में से एक मानी जाती है। अनेक लेखक और कवियों ने इस संस्कृति को आगे बढ़ाने में मदद की है। लेकिन मराठी साहित्य के लेखक अंग्रेजी साहित्य में कम ही पाए जाते हैं। इसमें से एक नाम है धनश्री कदम। धनश्री ने 22 वर्ष की उम्र में 'लिव फॉर यू’ उपन्यास लिखा। जिसकी 3500 प्रति प्रकाशन से पूर्व ही बिक गई। अब चार साल बाद फिर से धनश्री का नया उपन्यास सामने आया है जिसका नाम है सुजाना जोन्स। इस उपन्यास की कहानी क्रिश्चन कैथलिक सुजाना के इर्द गिर्द घूमती है। मराठी मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे धनश्री अंग्रेजी साहित्य के साथ फ्रेंच साहित्या में नाम कमाना चाहते हैं।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें