कर्मों से बनता-बिगड़ता है जीवन

    मुंबई  -  

    सद्गुरु कहते हैं यदि आप समझते हैं कि आप के कर्मों के बोझ और आपकी गलती का बोझ किसी मंदिर में घंटी बजाने से, पुष्प अर्पित करने से कम हो जाएंगे तो आप खुद को भटका रहे हैं। हम जैसे कर्म करेंगे वैसे फलों के भागीदार बनेंगे।

    दूसरी बात यदि बार-बार दुर्घटनाएं हो रही हों यदि वाहन में समस्या आ रही हो यदि बार-बार बुरे समाचार प्राप्त हो रहे हैं तो रविवार और मंगलवार के दिन घर पर भगवान के सामने नारियल की बलि दें यानि नारियल तोड़े, जिसे छोटे टुकड़े करके पक्षियों को अर्पित कर दें। सभी समस्या दूर हो जाएंगी।

    Loading Comments

    संबंधित ख़बरें

    © 2018 MumbaiLive. All Rights Reserved.