पुराने गानों के नाम एक शाम...

 Dadar
पुराने गानों के नाम एक शाम...
पुराने गानों के नाम एक शाम...
पुराने गानों के नाम एक शाम...
पुराने गानों के नाम एक शाम...
See all

दादर- आधुनिक दौर में पुराने गानों को धीरे धीरे कम सुना जा रहा है। रविवार शाम को दादर के शिवाजी मंदिर नाट्यगृह में रेडियोवाणी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आधुनिक दौर में भी रेडियों लोगों के जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बना हुआ है। रेडिओवाणी नाम के इस कार्यक्रम में पुराने गानों को गाकर संगीतकारों और गायको को श्रद्धांजली दी गई। प्रदीप दलवी गिटार वादक, रत्नाकर पिलणकर लेखक संगीतकार, नंदकिशोर कदम वास्तुरचनाकार व किशोरकुमार प्रेमी और अशोक मुरकर सॅक्सोफोन वादक, इन चारो मित्रों ने मिलकर प्राण प्रॉडक्शन नाम की संस्था का स्थापना किया। जिसकी ओर से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया था।

Loading Comments 

Related News from संगीत और नृत्य