संगीतकार मोहम्मद जहुर खय्याम का निधन

92 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

SHARE

भारतीय सिनेमा के मशहूर संगीतकार मोहम्मद जहुर खय्याम का  सोमवार को निधन हो गया। उसकी तबीयत पिछले कुछ समय से ठीक नहीं चल रही थी। फेफड़ों में संक्रमण के चलते उन्हें मुंबई के एक अस्पताल में एडमिट कराया गया था जहां उनकी हालत नाजुक बताई जा रही थी 



 92 वर्षीय खय्याम को बीते रविवार मुंबई के सूरज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। तब से वे आइसीयू में ही थे। डॉक्टरों की टीम उनके इलाज में लगी थी।सोमवार को खय्याम ने अस्पताल में आखिरी सांस ली।


ख़य्याम ने पहली बार फिल्म 'हीर रांझा' में संगीत दिया लेकिन मोहम्मद रफ़ी के गीत 'अकेले में वह घबराते तो होंगे' से उन्हें पहचान मिली। फिल्म 'शोला और शबनम' ने उन्हें संगीतकार के रूप में स्थापित कर दिया।


खय्याम ने कई हिट फिल्मों जैसे 'कभी-कभी' और 'उमराव जान' के लिए म्यूजिक कंपोज किया था। इन मूवीज के गाने एवरग्रीन माने जाते हैं।


संबंधित विषय
ताजा ख़बरें