Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
51,38,973
Recovered:
44,69,425
Deaths:
76,398
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
45,534
1,794
Maharashtra
5,90,818
37,236

नाइट लाइफ से रेप को बढ़ावा मिलेगा - बीजेपी नेता

इसके पहले इसी मुद्दे पर बोलते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने भी कहा था कि, मुझे नाईट लाइफ शब्द पसंद नहीं है। लेकिन इसका उपयोग होना चाहिए।

नाइट लाइफ से रेप को बढ़ावा मिलेगा - बीजेपी नेता
SHARES

शिवसेना (shiv sena) नेता और पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray) के द्वारा मुंबई में नाइट लाइफ (nihgtlife) शुरू करने के प्रस्ताव के बाद महाराष्ट्र (maharashtra) में अब इस पर बहस तेज होती जा रही है। कोई इसके पक्ष में बोल रहा है तो कोई इसके खिलाफ। अब नाइट लाइफ को लेकर बीजेपी (bjp) नेता राज पुरोहित (Raj Purohit) ने विवादित बयान दिया है। पुरोहित  का कहना है कि मुंबई (mumbai) में अगर नाइट लाइफ शुरू होती है तो इससे रेप (rape) को बढ़ावा मिलेगा। 

नाइट लाइफ के विरोध में बात करते हुए बीजेपी नेता राज पुरोहित ने कहा कि, नाइट लाइफ से युवा गलत रास्ते पर जाएंगे। उन्होंने कहा, मैं पिछले पांच साल से नाइट लाइफ का मुबंई शहर में विरोध कर रहा हूं। नाइट लाइफ युवाओं को गलत रास्ते में ले जाएगी। इससे रेप केस बढ़ेगा, महिलाओं पर अत्याचार बढ़ेगा और कानून व्यवस्था (law & order) भी बिगड़ेगी क्योंकि पुलिस (police) इतनी है नहीं की ये सब संभाल सके।

पढ़ें: नाइटलाइफ़ शब्द मुझे पसंद नहीं, लेकिन प्रयोग कर सकते- मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

इसके पहले इसी मुद्दे पर बोलते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने भी कहा था कि, मुझे नाइट लाइफ शब्द पसंद नहीं है। लेकिन इसका उपयोग होना चाहिए।

आपको बता दें कि नाइट लाइफ का कॉन्सेप्ट अमेरिका, लंदन सहित कई पश्चिमी देशों में काफी चलन में है। उद्धव ठाकरे के बेटे और पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे प्रस्ताव लाया है कि मुंबई के नॉन रेसीडेंसी इलाकों में दुकानें, मॉल और होटल 26 जनवरी से चौबीसों घंटे खुले रह सकते हैं। इसके लिए उन्होंने लंदन और इंदौर शहर का उदाहरण देते हुए कहा था कि नाइट लाइफ को केवल शराब पीने के साथ जोड़ना गलत है।

 हालंकि आदित्य ने यही भी कहा था कि यह दुकानदार के ऊपर निर्भर है कि वह अपनी दुकान को रात में खोलना चाहते हैं या नहीं। यही नहीं इस प्रस्ताव को आदित्य बीजेपी-शिव सेना सरकार के कार्यकाल में भी लेकर लाए थे, लेकिन यह लागू नहीं हो सका।

पढ़ें: 26 जनवरी से चौबीसों घंटे खुली रहेंगी दुकानें

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें