Advertisement

महाराष्ट्र में मराठी भाषा को प्रधानता देने की मांग को लेकर अमेजॉन ने मनसे को दिया यह जवाब

मनसे ने इस बात को लेकर विरोध जताया था कि, अमेजन अपना कारोबार मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में करता है, बावजूद इसके, अमेजन के ऐप में भाषा चुनने की लिस्ट में मराठी भाषा को जगह क्यों नहीं दी गई है?

महाराष्ट्र में मराठी भाषा को प्रधानता देने की मांग को लेकर अमेजॉन ने मनसे को दिया यह जवाब
SHARES

महाराष्ट्र की राजनीतिक पार्टी MNS (maharashtra political party mns) ने एक बार फिर मराठी भाषा (marathi language) का राग अलापते हुए अमेजन को खत लिखा है। मनसे (mns) ने इस बात को लेकर विरोध जताया था कि, अमेजॉन (amazon) अपना कारोबार मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में करता है, बावजूद इसके, अमेजन के ऐप (amazon app) में भाषा चुनने की लिस्ट में मराठी भाषा को जगह क्यों नहीं दी गई है?

महाराष्ट्र में मराठी भाषा को प्रधानता देने के लिए महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने अमेजॉन (Amazon) के संस्थापक जेफ बेजॉस (Jeff Bezos) को इस बाबत ईमेल भी किया है। जिसके बाद अमेजॉन.इन (Amazon.in) ने प्रतिक्रिया देते हुए मराठी भाषा को प्राथमिकता देने की मांग को मान लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मनसे के अखिल चित्रे (akhil chitre) ने अमेजॉन को ईमेल करते हुए लिखा कि, अमेजॉन मुंबई सहित महाराष्ट्र में अपना कारोबार करता है, इसके बाद भी भाषा चुनने की लिस्ट में आपने कई स्थानीय भारतीय भाषा को जगह दी है, जबकि मराठी भाषा को कोई स्थान नहीं दिया गया है।

इसके बाद बेजॉस की ओर से अमेजॉन.इन के जनसंपर्क विभाग ने उस पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि, बेजॉस को आपका मेल प्राप्त हुआ है। अमेजॉन ऐप में त्रुटी के कारण जो आपको तकलीफ हुई उसके लिए हमें खेद है। संबंधित विभाग को आपकी शिकायत के बारे में सूचित किया गया है और जल्द ही उसे ठीक किया जाएगा।

अखिल चित्रे ने अमेजॉन के इस ई-मेल की एक कॉपी ट्वीटर पर शेयर किया है और कहा है कि, मनसे की मांग पर स्वयं बेजॉस ने संज्ञान में लिया है। साथ ही कहा है कि, अमेजॉन का शिष्टमंडल आज मुंबई में आयेगा। उन्होंने आगे लिखा है कि, 'राज ठाकरे (raj thackeray) कहते हैं कि, अगर आप अपने भाषा पर तटस्थ रहेंगे तो पूरा विश्व आपको नोटिस करेगा।'

बता दें कि इसके पहले ही मनसे ने अमेजॉन और फ्लिपकार्ट ( flipkart) के बीकेसी (BKC) स्थित कार्यालय में जाकर मराठी भाषा और मराठी लोगों को प्रधानता देने की चेतावनी दी थी।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement