Advertisement

'पवार हमेशा हिंदुओं के खिलाफ क्यों बोलते हैं'- नीलेश राणे

बीजेपी नेता और पूर्व सांसद नीलेश राणे (nilesh rane) ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (sharad pawar) के राम मंदिर (ram Temple) भूमि पूजन कार्यक्रम पर दिए बयान पर आपत्ति जताई है।

'पवार हमेशा हिंदुओं के खिलाफ क्यों बोलते हैं'- नीलेश राणे
SHARES

बीजेपी नेता और पूर्व सांसद नीलेश राणे (nilesh rane) ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार (sharad pawar) के राम मंदिर (ram Temple) भूमि पूजन कार्यक्रम पर दिए बयान पर आपत्ति जताई है। नितेश राणे ने सवाल उठाते हुए कहा, पवार हमेशा हिंदुओं के खिलाफ क्यों बोलते हैं?  मंदिर हिंदुओं के लिए आस्था का विषय है।

राणे ने क्या कहा?

अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए निलेश राणे ने कहा, पवार हमेशा हिंदुओं के खिलाफ क्यों बोलते हैं ??? मंदिर हिंदुओं के लिए आस्था का विषय है, इसमें एनसीपी को परेशान होने की क्या बात है ???  राज्य के 1300 डॉक्टर आंदोलन करने वाले हैं, परमानेंट न होने के कारण डॉक्टर नाराज हैं। पवार को राम मंदिर का मुद्दा उठाने और हिंदुओं को परेशान करने के बजाय राज्य सरकार पर ध्यान देना चाहिए।  अगर राज्य सरकार ने पहले ही इसे गंभीरता से ले लिया होता, तो महाराष्ट्र इस संकट में देश में नंबर एक नहीं होता।

उमा भारती ने भी उठाया सवाल

इसके पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता उमा भारती (uma bharati) ने भी पवार के इस बयान पर आपत्ति जताया है। उन्होंने कहा कि, शरद पवार द्वारा पहले दिया गया यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नहीं है, बल्कि भगवान रामचंद्र के खिलाफ है। अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 घंटे के लिए अयोध्या चले जाते हैं, तो कौन सी अर्थव्यवस्था गिर जाएगी?  प्रधान मंत्री मोदी एक ऐसे व्यक्ति हैं जो 4 घंटे से अधिक नहीं सोते हैं और 24 घंटे काम करते रहते हैं। उन्होंने  आज तक कभी छुट्टी नहीं ली। वे हवाई यात्रा में भी काम करते हैं।  मैं उनके स्वभाव को जानती हूं। अगर उन्होंने भगवान रामचंद्र को 2 घंटे दे दिए, तो क्या हो जाएगा?

आपको बता दें कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या (narendra modi in ayodhya) में 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे।  प्रधानमंत्री मोदी को इस आयोजन के लिए अयोध्या जाना है। मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार अयोध्या जा रहे हैं।  

मोदी के इसी कार्यक्रम को लेकर शरद पवार ने तंज कसते हुए कहा था कि, कुछ लोगों को लगता है कि मंदिर बन जाने के बाद कोरोना भाग जाएगा। उन्होंने कहा था कि, इस समय देश मे कोरोना महामारी (Coronavirus) से लड़ना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें: बकरीद के लिए सरकार ने जारी की मार्गदर्शक सूचना

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement