शिवसेना के घोषणापत्र की खामियां

 Dadar
शिवसेना के घोषणापत्र की खामियां

दादर - शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे के जयंती के अवसर पर घोषणापत्र जारी किया गया। इस घोषणा पत्र को शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने जारी किया। लेकिन इस घोषणा पत्र के क्या कुछ खामिया हैं हम आपको बता रहे हैं...


1 घोषणापत्र : नौकरी करने वाले पालकों के छोटे बच्चों के लिए विभागों में पालनाघर की व्यवस्था

स्थिति : पिछले पांच वर्षों से केवल चर्चा शुरु है, इसपर अमल नहीं किया जा रहा।


2 घोषणापत्र : मुंबईकरों के लिए बाल ठाकरे ‘आरोग्य कवच योजना’

स्थिति: पिछले चुनाव में शिव आरोग्य कवच योजना लागू करने की बात, लेकिन शिवसेना ने अब तक इसे लागू नहीं किया।


3 घोषणापत्र : गोवंडी में शताब्दी अस्पताल मेडिकल कॉलेज खुलेगा

स्थिति: गोवंडी में शताब्दी अस्पताल मेडिकल कॉलेज शुरू करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है, बीते पांच वर्षों में इस बारे में योग्य कदम नहीं उठाया गया।


4 घोषणापत्र : डायबिटीज के उपचार के लिए विशेष अस्पताल बनाया जाएगा

स्थिति: डायबिटीज के उपचार के लिए सभी दवाखानों में सुविधा उपलब्ध करना था, लेकिन आज तक इसपर कुछ नहीं हुआ।


5 घोषणापत्र: आरोग्य सेवा आपके घर

स्थिति: प्रत्येक बस्ती में मोबाइल वैन द्वारा आरोग्य सेवा जारी है, जिसे शिवसेना ने अपने घोषणा पत्र में शामिल किया है।


6 घोषणापत्र : महिला शौचालय में सैनिटरी नैपकीन वेडिंग मशीन होगी उपलब्ध

स्थिति: महापालिका स्कूलों में इस प्रकार की मशीन लगाई जानी बाकी है।


7 घोषणापत्र: देवनार डम्पिंग ग्राऊंड में कचरा प्रक्रिया प्रकल्प तैयार किया जाएगा

स्थिति: देवनार डम्पिंग ग्राउंड में कचरा प्रक्रिया द्वारा बिजली पैदा करने के लिए ठेका निविदा प्रक्रिया शुरु है।


8 घोषणापत्र : पुराने कुओं को फिर से तैयार करके पानी को रोजाना इस्तेमाल लायक बनाना

स्थिति: सन 2009 में इस योजना पर करोड़ों रुपए खर्च हो चुके हैं, फिर भी इसमें बीएमसी को सफलता नहीं मिलने के चलते टैंकर लॉबी को फायदा मिला।


9 घोषणापत्र : मुंबईकरों को 24 घंटे पानी की सप्लाई करने के लिए गारगाई, पिजाल प्रकल्प तैयार किया जाएगा।

स्थिति: गारगाई और पिंजाल प्रकल्प सन 2017 में पूर्ण किया जाना था, लेकिन यह दोनों प्रकल्प अभी कागज पर ही हैं।


10 घोषणापत्र : उपनगर के मोगरा व माहुल में पम्पिंग स्टेशन

स्थिति: सन 2007 से मोगरा और माहुल पम्पिंग स्टेशन तैयार करने की प्रक्रिया शुरु है, लेकिन इसकी जगह को बीएमसी ने कब्जे में अभी तक नहीं लिया।


11 घोषणापत्र : बेस्ट कर्मचारियों के लिए बीमा योजना

स्थिति : बेस्ट कर्मचारियों के लिए बीमा योजना देने की मांग उठने के बाद बेस्ट को हो रही हानि के चलते ऐसी योजना साकार नहीं हो सकती, ऐसा माना जा रहा है।


12 घोषणापत्र : बस, मेट्रो, लोकल सेवा के लिए एक संयुक्त पास की सुविधा

स्थिति: पिछले आठ वर्षों से केवल इसपर चर्चा हो रही है, लेकिन इसपर किसी तरह का अमल नहीं किया गया।


13 घोषणापत्र: डिब्बावालों के साथ नागरिकों के लिए रेलवे स्टेशन के पास दो पहिया स्टैन्ड

स्थिति: रेलवे स्टेशन के पास दो पहिया वाहन स्टैंड शुरू हैं, चर्नी रोड के साथ घाटकोपर में ऐसे स्टैंड की शुरूआत हो चुकी है।


14 घोषणापत्र : सफाई कामगारों के साथ महापालिका कर्मचारियों के लिए घरकुल योजना

स्थिति: सफाई कामगारों के लिए आश्रय योजना और वाल्मिकी योजना पिछले 9 वर्ष पहले से घोषित है लेकिन इसका लाभ सफाई कर्मचारियों को मिला नहीं।

Loading Comments