कांग्रेस विधायकों के आज मुंबई लौटने की संभावना

कांग्रेस पार्टी ने अपने 44 विधायकों को राजस्थान के जयपुर भेज दिया था

SHARE

राज्य में मंगलवार शाम को राष्ट्रपति शासन लागू हो गया।  किसी भी पार्टी द्वारा सरकार बनाने के लिए  रजामंदी ना होने के कारण  राज्यपाल ने राष्ट्रपति को राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने के लिए सिफारीश की। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राज्यपाल के शिफारीश को मंजूर कर लिया। हालांकी राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होने के बाद भी राजनीतिक पार्टियों की गतिविधियां अभी भी शुरु है। आज वाईबी चव्हाण सेंटर में एनसीपी विधायकों की बैठक होने वाली है।

वापस लौट सकते है विधायक

 विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद राज्य में सत्ता को लेकर शिवसेना और बीजेपी के बीच तनातनी शुरु हो गई। जिसे देखते हुए कांग्रेस ने अपने विधायको को जयपूर के एक होटल में शिफ्ट कर दिया। हॉर्स ट्रेडिंग से बचने के लिए कांग्रेस पार्टी ने अपने 44 विधायकों को राजस्थान के जयपुर भेज दिया था, जिनकी अब वापसी हो रही सकती है।  कांग्रेस विधायको के आज मुंबई लौटने की संभावना है।

नारायण राणें की एंट्री

जहां एक ओर राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है तो वही दूसरी ओर बीजेपी कोटे से राज्यसभा सांसद नारायण राणे ने मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए कहा की बीजेपी सरकार बनाने के लिए सक्रिय रहेगी और आनेवाले समय में पार्टी 145 विधायको की संख्या को बंदोबस्त कर लेगी। नारायण राणे ने कहा की वह पार्टी के सदस्य है और पार्टी ने उन्हे राज्य में बीजेपी सत्ता स्थापन करने के लिए मदद करने के लिए कहा है।

यह भी पढ़े- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू, पहले भी 2 बार लग चुका है राष्ट्रपति शासन

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें