सरकार को बापू की जयकार से परहेज – सचिन सावंत


SHARE

मुंबई - 'हे राम नाथुराम' इस नाटक के खिलाफ शांतिपूर्ण ढंग से अहिंसक आंदोलन करने वाले कांग्रेसी कार्यकर्ताओं पर गोली मारने का इशारा करने वाली सरकार नाथुराम के विचारों की सरकार है, इस तरह की टिप्पणी महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव सचिन सावंत ने की। 

उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथुराम गोंडसे की महिमामंडन करने वाले कुछ मंडलों की तरफ से हे राम, नथुराम इस तरह के नाटक जगह-जगह किए जा रहे हैं। रविवार को नागपुर में होने वाले इसी तरह के नाटक का कांग्रेस ने विरोध किया। इस मौके पर कांग्रेसी कार्यकर्ता शांतिपूर्ण और अहिंसक पद्धति से महात्मा गांधी की जय इस तरह के नारे देकर आंदोलन कर रहे थे। लेकिन मन में नाथुराम को बसाने वाली सरकार को महात्मा गांधी की जय जयकार सुनना स्वीकार्य नहीं है। 

 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें