शिवसेना को समर्थन देने पर सोनिया गांधी राजी नहीं

गुरुवार शाम को दिल्ली पहुंचकर महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं ने सोनिया गांधी से मुलाकात की

SHARE

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर भाजपा और शिवसेना बीच चल रहे तनाव को देखते हुए अब कांग्रेस ने भी अपने पत्ते धीरे धीरे खोलने शुरु कर दिये है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा की अगर शिवसेना के पास कोई अच्छा प्रस्ताव है तो कांग्रेस इस पर विचार करेगी। हालांकी  कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी शिवसेना को समर्थन देने के लिए राजी नहीं दिख रही है।  राज्य कांग्रेस के नेता पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने गुरुवार शाम को दिल्ली पहुंच गए।

हिंदुत्ववादी छवि के कारण परहेज
इन नेताओं में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बाला साहेब थोराट, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और पृथ्वीराज चव्हाण शामिल हैं। कांग्रेस के इन तीनों नेताओं ने दिन में एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की।  बाला साहेब थोराट,  अशोक चव्हाण और पृथ्वीराज चह्वाण ने सोनिया गांधी को शिवसेना के बारे में विचार करने के बारे में बताया जिसके बाद सोनिया गांधी फिलहाल शिवसेना को समर्थन देने से बच रही है।  बताया जा रहा है की सोनिया गांधी शिवसेना के हिंदुत्ववादी छवि के कारण समर्थन देने से बच रही है।

संजय राउत ने  शरद पवार से की मुलाकात 

शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने गुरुवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की। हालांकि, राउत ने इसे शिष्टाचार मुलाकात बताया है। लेकिन इसे भाजपा पर दबाव बनाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है।

यह भी पढ़े- एकनाथ शिंदे को चुना गया शिव सेना विधायक दल का नेता, आदित्य ठाकरे के चुने जाने की लग रही थीं अटकलें

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें