Advertisement

अशोक चव्हाण को मिली अस्पताल से छुट्टी, कोरोना लक्षण के बाद हुए थे एडमिट

अशोक चव्हाण, ठाकरे मंत्रिमंडल के ऐसे मंत्री हैं जो कोरोना पीड़ित हुए हैं। इसके पहले एनसीपी नेता और आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड भी कोरोना से ग्रसित हो चुके हैं, लेकिन वे भी स्वस्थ होकर अपने घर लौट आए हैं।

अशोक चव्हाण को मिली अस्पताल से छुट्टी, कोरोना लक्षण के बाद हुए थे एडमिट
SHARES
Advertisement


पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य के लोक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण (ashok chavhan) को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। 25 मई को उनमें कोरोना के लक्षण दिखने के बाद उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया था।

बताया जाता है कि वे 10 दिनों तक अस्पताल में एडमिट थे। रहने के बाद, उन्हें छुट्टी दे दी गई  (congress leader coronavirus live updates ashok chavan got discharged from hospital after covid 19 test negative)। 

अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद चव्हाण मुंबई में अपने आवास के लिए रवाना हो गए। डॉक्टरों की सलाह पर वे अगले 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहेंगे।

रिपोर्ट के मुताबिक अशोक चव्हाण जो विधान परिषद चुनाव (assembly election) के लिए मुंबई आए थे, और चुनाव बाद में नांदेड़ के अपने निर्वाचन क्षेत्र में लौट आए।

चूंकि चव्हाण लगातार लोगों से मिल रहे थे जिसके बाद एहतियातन चव्हाण का मुंबई में दो बार कोरोना परीक्षण हुआ, जिसके बाद ये दोनों परीक्षण निगेटिव आए।

सूत्रों के अनुसार नांदेड़ लौटने पर चव्हाण ने फिर से कोरोना का परीक्षण किया, जो इस बार पॉजिटिव आई। जिसके बाद उन्होंने खुद को क्वारंटाइन कर लिया। लेकिन आशंका और पारिवारिक चिंताओं को देखते हुए चव्हाण मुंबई के लीलावती अस्पताल में दाखिल हो गए।

लेकिन परीक्षण सकारात्मक था और उन्होंने खुद को छोड़ दिया। उनके करीबी लोगों ने कहा कि उन्हें कोरोना का कोई लक्षण महसूस नहीं हुआ।  इस बीच, उन्होंने और उनके परिवार ने मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती होने का फैसला किया क्योंकि चिकित्सा जटिलताओं को आगे नहीं बढ़ाना चाहते थे।

आपको बता दें कि अशोक चव्हाण, ठाकरे मंत्रिमंडल के ऐसे मंत्री हैं जो कोरोना पीड़ित हुए हैं। इसके पहले एनसीपी नेता और आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड (jitendra awhad) भी कोरोना से ग्रसित हो चुके हैं, लेकिन वे भी स्वस्थ होकर अपने घर लौट आए हैं।

संबंधित विषय
Advertisement