Advertisement

'अगर यही हाल रहा तो तुम्हारी मदद करने कोई नहीं आएगा'

उद्धव ठाकरे ने सुझाव दिया कि यदि सर्दी, खांसी और बुखार के बारे में कोई संदेह है, तो तत्काल कोरोना केंद्र जाकर डॉक्टरों से संपर्क करें।

'अगर यही हाल रहा तो तुम्हारी मदद करने कोई नहीं आएगा'
SHARES
Advertisement


राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि, हमारे डॉक्टर कोरोना वायरस से हर दिन दो-दो हाथ कर रहे हैं। हालांकि कोरोनो वायरस के रोगी बढ़ भी रहे हैं, तो कुछ रोगी बीमारी से ठीक होकर घर लौट रहे हैं। कोरोना के लक्षण को देखते हुए निमोनिया के भी मरीज बढ़ रहे हैं। राज्य के मुख्य डॉक्टरों उद्धव ठाकरे (cm uddhav thackeray) ने सुझाव दिया कि यदि सर्दी, खांसी और बुखार के बारे में कोई संदेह है, तो तत्काल कोरोना केंद्र जाकर डॉक्टरों से संपर्क करें।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे रविवार को फेसबुक लाइव के माध्यम से राज्य की जनता से बातचीत की। पहली बार उन्होंने कोरोना (Covid-19) की लड़ाई में कड़ी मेहनत करने वाले डॉक्टरों, नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों को धन्यवाद दिया।  उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के मंत्री, विपक्ष के नेता भी संकट के समय सहयोग कर रहे थे।



उद्धव ने कहा, दुनिया भर के ज्यादातर देश संकट में हैं।  जो देश पहले कोरोना से बेखबर थे, आज वहां की स्थिति देखते नहीं बन रही हैं। इसलिए कोई आपकी सहायता के लिए नहीं आएगा। लेकिन हम आपकी मदद करना चाहते हैं, लेकिन आपको घर से बाहर नहीं निकलना होगा।  जीवनावश्यक वस्तु हमेशा उपलब्ध हैं। अनाज, दवाएं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं।  इसलिए इन वस्तुओं को खरीदने के लिए बाजार में न जाएं।  अन्यथा सरकार को कठोर कदम उठाने होंगे।  पुलिस के साथ खिलवाड़ न करें।  उन पर पहले से ही काफी तनाव है।  नियमों का पालन करें।

कोरोना के साथ-साथ अब निमोनिया के मरीजों के बढ़ने की संभावना है।  इसलिए यदि किसी को सर्दी, खांसी, बुखार होता है तो उन्हें तुरंत कोरोना सेंटर भेजें। गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों, छोटे बच्चों, मधुमेह, मोटापे, रक्तचाप और हृदयरोग से ग्रसित रोगियों का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए।  डॉक्टरों को पहल करते हुए अपने क्लीनिक जारी रखने चाहिए।

मुख्यमंत्री ने अपील की कि, लॉकडाउन के 8 दिन बीत चुके हैं। बाकी के दिन ऐसे ही गुजर जाएंगे।  सरकार बाहरी संकट से निपटने के लिए दृढ़संकल्प है।  फिर आपको घर पर रहना चाहिए और अपना और अपने परिवार का ख्याल रखना चाहिए।

संबंधित विषय
Advertisement