Advertisement

धारा 144 लागू होने के बाद भी राज ठाकरे के घर के बाहर जमा हुई भीड़

पार्टी के एक पदाधिकारी ने बताया कि ये लोग वर्ली से आए थे और मनसे में शामिल हुए थे।

धारा 144 लागू होने के बाद भी राज ठाकरे के घर के बाहर जमा हुई भीड़
SHARES

मुंबई में बढ़ते हुए कोरोना वायरस (Coronavirus in mumbai) के मामलों के बीच, मुंबई पुलिस (mumbai police) ने महानगरीय या सार्वजनिक स्थानों या समारोहों में एक या अधिक व्यक्तियों के जमाव को प्रतिबंधित करते हुए आपराधिक प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू कर दी। पुलिस ने सूचित किया कि लोगों के जमाव को केवल आपातकालीन और गैर-आपातकालीन सेवाओं के लिए ही अनुमति दी जाएगी।

हालांकि, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख राज ठाकरे (raj thackeray) के निवास स्थान 'कृष्ण कुंज' के बाहर न केवल धारा 144 की धज्जियां उड़ाई गयी बल्कि सोशल डिस्टेंस (social distance) का भी मख़ौल उड़ाया गया। राह ठाकरे के घर के बाहर काफी लोग जुटे थे। बताया जाता है कि ये सभी लोग औपचारिक रूप से मनसे में शामिल हो गए थे।

पार्टी के एक पदाधिकारी ने बताया कि ये लोग वर्ली से आए थे और मनसे में शामिल हुए थे। ठाकरे के घर के बाहर कुछ समय के लिए भीड़ थी, लेकिन उन्हें सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए कहा गया था।

सरकार के प्रोटोकॉल के अनुसार, कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सामाजिक दूरी का पालन करना आवश्यक है। मुंबई में पिछले कुछ दिनों में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामलों में भारी वृद्धि देखी जा रही है।

महाराष्ट्र कोरोना वायरस (coronavirus in maharashtra) से प्रभावित होने वाले राज्यों में देश में सबसे पहले स्थान पर है। इससे पहले, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन (central health minister harshvardhan) ने भी इसी बात पर चिंता जताई थी कि महाराष्ट्र से अधिकतम मामले सामने आ रहे हैं।

17 सितंबर तक, महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 31,351 हो गई है। जबकि राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 3,01,752 हैं। गुरुवार को महाराष्ट्र ने 24 घंटे में 24,619 कोरोना वायरस के मामले सामने आए  और 398 लोगों की मौत हुई।

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement