इस्तीफा देने के बाद फडणवीस शिव सेना पर जम कर बरसे, कहा- शिवसेना के साथ 50-50 फॉर्मूले पर कभी कोई बात

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्यपाल से मिल कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इसके बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने शिव सेना के खिलाफ जम कर अपनी भड़ास निकाली।

SHARE

महाराष्ट्र (maharashtra) के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने राज्यपाल से मिल कर उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इसके बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने शिव सेना (shiv sena) के खिलाफ जम कर अपनी भड़ास निकाली। उन्होंने साफ कहा कि चुनाव के पहले शिवसेना के साथ 50-50 फॉर्मूले पर कभी कोई बात नहीं हुई थी।

लेकिन उन्होंने एक सवाल के जवाब में यह भी कहा कि शिव सेना के साथ हम अभी भी युति में हैं, हमारी युति अभी टूटी नहीं है।

क्या कहा देवेंद्र फडणवीस ने
इस्तीफे के बाद फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि,शिवेसना के '50-50' फॉर्म्युले के तह ढाई-ढाई साल के लिए दोनों दलों के सीएम की मांग को गलत बताते हुए फडणवीस ने कहा कि इसपर कभी कोई फैसला नहीं हुआ था। 

फडणवीस ने कहा, जिस तरह से शिव सेना पीएम नरेंद्र मोदी(narednra modi) के खिलाफ इन पांच सालों में बयानबाजी की इससे यह युति नहीं हो सकती। नतीजे आने के बाद से ही शिवसेना के कुछ नेता जिस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं, हम उससे सख्त भाषा में जवाब दे सकते हैं लेकिन हमारी संस्कृति यह नहीं है। हम बाला साहब ठाकरे के खिलाफ कभी सोच भी नहीं सकते।

पत्रकारों से बात करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि, मैंने दो से तीन बार खुद उद्धव ठाकरे को फोन किया   लेकिन उसका कोई जवाब नहीं दिया गया। उन्होंने हमसे चर्चा करने के बजाय एनसीपी(NCP) और कांग्रेस (Congresss) से चर्चा की। मुझे लगता है कि चुनाव नतीजे आने के बाद ही शिव सेना ने तय कर लिया था कि वह एनसीपी-कांग्रेस के साथ सरकार बनाएगी। शिव सेना से बात करने के लिए बीजेपी के दरवाजे हमेशा खुले हैं लेकिन शिव सेना ने अपनी लगातार बयानबाजी से इसे कठिन बना दिया है।

फडणवीस के अनुसार, उन्होंने खुद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिल कर उनसे कन्फर्म किया कि क्या शिव सेना के साथ 50-50 फॉर्मूले के बारे बात हुई थी? इस पर अमित शाह ने 50-50 फॉर्मूले से साफ़ इनकार करते हुए कहा कि, शिव सेना के साथ इस तरह से किसी भी फॉर्मूले पर बात नहीं हुई थी।

फडणवीस ने कहा-'उद्धव ठाकरे पर मैं कोई टीका-टिप्पणी नही करूंगा। लेकिन उनके अगल-बगल के लोगो ने हमारे बीच दूरियां बढ़ाने का काम किया। उन्हें हम उन्हीं की भाषा में जवाब दे सकते हैं। लेकिन हम जोड़नेवाले लोग हैं, तोड़नेवाले नहीं।

संजय राउत ने किया इनकार
सरकार गठन के लिए समय खत्म होता देखकर शिवसेना नेता संजय राउत (sanjay raut) एकबार फिर से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के अध्यक्ष शरद पवार से मिलने पहुंचे। जब पत्रकारों ने राउत से कहा कि बीजेपी 50-50 फॉर्मूले से साफ़ इनकार कर रही है और कह रही है कि इस तरह का कोई भी बात नहीं हुई थी, उस पर राउत ने दोहराया कि शिव सेना और बीजेपी के साथ 50-50 फॉर्मूले पर बात हुई थी। अगर बीजेपी सरकार बनाती है तो उसका हम अभिवादन करते हैं। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें