यह नेता ईडी से बच पाएगा?

 Mumbai
यह नेता ईडी से बच पाएगा?

मुंबई - केंद्र सरकार के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा देश के नामचीन उद्योगपतियों के साथ बडे राजनेताओं पर भी कसता जा रहा है। शनिवार सुबह ईडी ने मुम्बई समेत देशभर में 300 फर्जी कंपनियों के ठिकानों पर रेड की। सूत्रों की जानकारी के अनुसार, ईडी ने मुम्बई में 35 जगहों पर छापेमारी की हैं। निकट भविष्य में इस तरह की छापेमारी की कार्रवाई शुरु रहने के आसार हैं। मुम्बई में हुई रेड में महाराष्ट्र के पूर्व उप मुख्यमंत्री और राष्ट्रवादी कांग्रेस के ‘बाहुबली’ नेता छगन भुजबल की मनी लॉड्रिंग के मामले में फंसी कंपनियां भी शामिल हैं। बड़ी खबर यह हैं कि, भुजबल के साथ ईडी के रडारपर और एक नेता का नाम आ गया हैं।

बोगस कंपनियों के नाम पर अरबों रुपए निवेश कर खुफिया एजेंसियों को भी चकमा देने के फिराक में रहे इस नेता के खिलाफ कई महत्त्वपूर्ण और गोपनीय दस्तावेज ईडी को मिलने की सूत्रों की जानकारी है। महाराष्ट्र की राजनीति के इस मंझे हुए खिलाडी ने राजनीति में सक्रिय अपने बेटों के साथ कारोबारी दुनिया में अपना मुकाम बनाया हैं। करीब 55 बोगस कंपनियों के नाम से इस नेता ने निवेश किया हैं। राज्य की राजनीति में भूचाल लाने की क्षमता रखनेवाले इस नेता की महत्वाकांक्षा के मार्ग पर ईडी की रुकावट डालने की राजनीतिक साजिश की जाने की चर्चा राजनैतिक हलकों में दबी आवाज में की जा रही है। इसी बीच मुम्बई के एक ऑपरेटर ने 20 फर्जी निर्देशकों के माध्यम से 46.7 करोड रुपए का लेनदेन की जाने की जानकारी मिली है। भुजबल के बाद अब महाराष्ट्र के जिस नेता पर ईडी का शिकंजा कस गया हैं, वह ‘ईडीचक्र’ से बाहर आने के लिए भारतीय जनता पार्टी के बडे नेता से संपर्क बनाए हुए हैं।

Loading Comments