Advertisement

एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी शिवसेना में नेताओं के जाने का दौर शुरु

शिवसेना में अभी नेताओं को निकालने और इस्तीफा देने का दौरा जारी है

एकनाथ शिंदे के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी शिवसेना में नेताओं के जाने का दौर शुरु
SHARES

शिवसेना से बगावत कर शिवसेना( shiv sene) के 40 विधायको को अपने  साथ करनेवाले एकनाथ शिंदे( eknath shinde)  के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी शिवसेना की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही है।  जहां एक ओर पहले ही शिवसेना के 40  विधायको ने पार्टी के साथ बगावत की है तो वही दूसरी ओर अभी भी शिवसेना में नेताओं के जाने और निकालने का सिलसिला शुरु है। 

शिवसेना ने भावना गवली को लोकसभा प्रतोद पद से बर्खास्त किया

जहां एक शिवसेना ने भावना गवली को लोकसभा प्रतोद पद से बर्खास्त कर दिया है तो वही दूसरी ओर शिवसेना के पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल ने इस्तीफा दे दिया है।शिवसेना नेता भावना गवली को लोकसभा प्रतोद से बर्खास्त कर दिया गया है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर भावना गवली को पद से हटाने का अनुरोध किया है।

ठाणे से शिवसेना सांसद राजन विचारे को भावना गवली की जगह नियुक्त किया गया है। एकनाथ शिंदे के बगावत के बाद सांसद भावना गवली ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा था। उन्होंने कहा था कि एकनाथ शिंदे की भूमिका सही थी।

पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल ने इस्तीफा दिया 

शिवसेना के पूर्व सांसद आनंदराव अडसुल ने इस्तीफा दे दिया है। आनंदराव अडसुल ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को इस्तीफा भेजा है। आनंदराव अडसुल ने अपने पत्र में यह भावना व्यक्त की है कि मुश्किल समय में पार्टी और नेतृत्व ने उनका साथ नहीं दिया। 

आनंदराव अडसुल के बेटे अभिजीत अडसुल पहले से ही एकनाथ शिंदे समूह के साथ हैं। इसलिए आनंदराव अडसुल के भी शिंदे समूह का समर्थन करने की संभावना है।

यह भी पढ़े- 11 जुलाई बाद हो सकती है महाराष्ट्र मंत्रिमंडल की घोषणा

संबंधित विषय
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें