किसान हाथापाई मामले में जांच के आदेश

 Mumbai
किसान हाथापाई मामले में जांच के आदेश

मुंबई- गुरुवार को मंत्रालय में औरंगाबाद जिले से आये रामेश्वर भूसारे नाम के किसान के साथ पुलिस ने मारामारी की। साथ ही किसान के खिलाफ मामला दायर किया। अब इस किसान को मिलने के लिए राजनेताओं की लाइन लगी पड़ी है।
विरोधी पार्टी के नेताओं ने रामेश्वर भूसारे के साथ अपनी सहमति दिखाई है। एनसीपी नेता अजित पवार ने किसान को फोन भी किया और साथ ही कहा कि पुलिस अधिकारी झूठ बोल रहे हैं। ऐसे पुलिस अधिकारियों को निलंबित किया जाना चाहिये। अजित पवार, राधाकृष्ण विखे पाटील, धनंजय मुंडे ने अधिकारियों से सवाल किया कि किसान से इस तरह का बर्ताव करने का अधिकार उसे किसने दिया।
किसान का कहना है कि उन्होंने मंत्रालय के सामने अपने आप को जलाने की कोशिश नहीं की बल्की पुलिस वालों ने उनके साथ बुरा बर्ताव किया और उन्हें पुलिस की गाड़ी में बैठाकर पुलिस स्टेशन लेकर आ गये। साथ ही मेरा गला दबाने की भी कोशिश की गई।

किसान के साथ हुए बर्ताव पर जांच के आदेश-मुख्यमंत्री
गुरुवार को मंत्रालय के सामने किसान के साथ हुए बदसलूकी के मामले में सीएम ने जांच के आदेश दे दिये हैं। पूरे मामले की जांच कर जल्द ही रिपोर्ट सौपी जाएगी।

Loading Comments