नगरसेवक महोदय कुछ तो शर्म करो.. कैसे जनता के सेवक हो?

 Mumbai
नगरसेवक महोदय कुछ तो शर्म करो.. कैसे जनता के सेवक हो?
नगरसेवक महोदय कुछ तो शर्म करो.. कैसे जनता के सेवक हो?
नगरसेवक महोदय कुछ तो शर्म करो.. कैसे जनता के सेवक हो?
नगरसेवक महोदय कुछ तो शर्म करो.. कैसे जनता के सेवक हो?
नगरसेवक महोदय कुछ तो शर्म करो.. कैसे जनता के सेवक हो?
See all

कांदिवली - चुनाव से पहले तो सभी नेता वादे पर वादे करते हैं, लेकिन चुनाव बाद वही नेता ना सिर्फ अपने वादे भूल जाते हैं बल्कि दिखाई देना भी बंद कर देते हैं। तमाम विकास कार्यों से उनका कोई वास्ता ही नहीं रहता। कहीं गलियां रो रही हैं तो कहीं पार्क अपनी हालत पर आंसू बहा रहे हैं।

कुछ ऐसा ही हाल है कांदिवली के वार्ड क्रमांक 31 में एकता नगर के पृथ्वीराज चौहान गार्डन का। जो कभी बहुत सुंदर और विकसित हालत में था। 

आज इस पार्क की हालत बहुत खस्ता है। यहां रोज हजारों की संख्या में सुबह और शाम घूमने आते हैं, लेकिन जिस तरह से इसकी हालात है उससे लोग परेशान हैं। 

यही वजह है कि जब बुधवार सुबह अचानक यहां के सांसद गोपाल शेट्टी का आगमन हुआ तो यहां की जनता ने शिकायत की झड़ी ही लगा दी। स्थानीय लोगों ने बताया कि किस तरह से यहां का गार्डेन भगवान भरोसे चल रहा है, यहां झाड़ू तक नहीं लगाया जाता और ना ही कभी लगाये गए पेड़-पौधों को पानी देने की जरुरत महसूस की जाती। यहां पर लगी हुई कई लाइट को तोड़ दिया गया है और गार्डन में सांसद फण्ड से लगाई गई कुर्सियां भी तोड़ दी गयी हैं।

इसी बात को लेकर सांसद महोदय ने यहां नवनिर्वाचित बीजेपी नगरसेवक कमलेश यादव की क्लास तक लगा डाली। शेट्टी ने कहा कि यहां के नेता सिर्फ लोगों का खून चूसने का काम करते हैं, किसी को जनता की सेवा की नहीं पड़ी है। उनका गुस्सा इतने पर ही शांत नहीं हुआ उन्होंने आगे कहा कि कि अगर एक कुर्सी टूटने पर शिकायत की गयी होती तो शायद दूसरी कुर्सी तोड़ने की हिम्मत कोई नहीं करता, नगरसेवक महोदय को बोला कि आपको जनता ने चुनकर दिया है कुछ तो शर्म करो। कैसे जनता के सेवक हो बताओ।

Loading Comments