Advertisement

सरकार को जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट का निजीकरण नहीं करना चाहिए: शिवसेना सांसद संजय राउत

राउत ने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाया कि जेएनपीटी का निजीकरण राष्ट्रीय संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा होगा

सरकार को जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट का निजीकरण नहीं करना चाहिए: शिवसेना सांसद संजय राउत
SHARES

शिवसेना(Shivsena) सांसद संजय राउत(Sanjay raut)  ने गुरुवार को जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (JNPT ) के निजीकरण के प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा कि निजी कंपनियों  को बंदरगाह देने से राष्ट्रीय संपत्ति का भारी नुकसान होगा।  उन्होंने कहा कि जेएनपीटी बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार प्रदान करता है और इसका निजीकरण (Privitization) करने से छंटनी होगी।

संसद में उठाई आवाज़

राउत संसद के मानसून सत्र के चार दिन बोल रहे थे।  उन्होंने राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाया।  उन्होंने कल JNPT के प्रस्तावित निजीकरण, और राष्ट्रीय सुरक्षा पर चिंताओं के बारे में एक शून्य घंटे का नोटिस प्रस्तुत किया था।

शिवसेना सांसद ने कहा कि देश की आर्थिक स्थिति गंभीर है और स्थिति ऐसी है कि जीडीपी और साथ ही आरबीआई “दिवालिया” हैं।  उन्होंने कहा कि देश कोरोनोवायरस महामारी देख रहा है और इसने पहले भी विमुद्रीकरण देखा है।

इसके बीच, केंद्र सरकार ने रेलवे, एलआईसी और एयर इंडिया को नीलामी में बेचने का फैसला किया है।  इसके अलावा, जेएनपीटी को भी ब्लॉक पर रखा गया है, जो राष्ट्रीय संपत्ति का एक बड़ा नुकसान होगा।

इससे पहले, राउत ने Ra कुछ राज्यसभा सांसदों ’पर कटाक्ष किया था, जिन्होंने कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र सरकार के COVID-19 हैंडलिंग की आलोचना की।  उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के कई लोग ठीक हो रहे हैं और धारावी -19 की स्थिति से निपटने के लिए बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) के प्रयासों को डब्ल्यूएचओ द्वारा सराहा गया।

महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोनावायरस के मामलों की संख्या संबंधित है और यह कोरोनवायरस के प्रकोप की शुरुआत से भारत में सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में से एक रहा है। इससे पहले, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी इसी बात पर चिंता जताई थी कि महाराष्ट्र से अधिकतम मामले सामने आ रहे हैं।

यह भी पढ़ेखुशखबरी! भारत का सदाबहार दोस्त रूस कोरोना की 10 करोड़ वैक्सीन कराएगा उपलब्ध

Read this story in English
संबंधित विषय
Advertisement