• आडवाणी के बयान का राम नाईक ने किया समर्थन
  • आडवाणी के बयान का राम नाईक ने किया समर्थन
  • आडवाणी के बयान का राम नाईक ने किया समर्थन
  • आडवाणी के बयान का राम नाईक ने किया समर्थन
  • आडवाणी के बयान का राम नाईक ने किया समर्थन
SHARE

बोरीवली - शुक्रवार को उत्तरप्रदेश के राज्यपाल राम नाईक मुंबई में थे। नाईक बोरीवली इलाके में स्थित आदित्य इंटरनेशनल कॉलेज के फेयर फेस्टिवल 'अर्घ' नाम के प्रोग्राम का उद्घाटन करने आए थे। इस मौके पर उन्होंने बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी के उस बयान का समर्थन किया जिसमें आडवाणी ने संसद न चलने पर दुख जताया था। नाईक ने कहा कि संसद चर्चा के लिए होती है और अब संसद में चर्चा नहीं, नारेबाजी होती है। संसद का उद्देश्य जो होता है वो विफल हो जाता है, स्वाभाविक है किसी को अच्छा नहीं लगेगा। उन्होंने ने आगे कहा कि आडवाणीजी वरिष्ठ सांसद हैं। भारतीय जनसंघ, भारतीय जनता पार्टी का उन्होंने नेतृत्व किया है। उनके जैसे संविधान के जानकार को दुःख होना लाजमी है। नोटबंदी पर राम नाईक ने कहा कि जनता देखती है, जनता सहन करने के बाद अपना निर्णय करती है, जनता निर्णय करेगी, सही बात है कि लोगों को कठिनाई हो रही है, परेशानी हो रही है। तकलीफों को दूर करना सरकार का दायित्व है। मैं आशा करता हूं तकलीफ दूर होगी।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें