Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
51,79,929
Recovered:
45,41,391
Deaths:
77,191
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
40,162
1,717
Maharashtra
5,58,996
40,956

तेल महंगाई को लेकर अमिताभ, अक्षय क्यों हैं चुप? बोलें, वर्ना फ़िल्म नहीं चलने देंगे- नाराज कांग्रेस अध्यक्ष ने दी चेतावनी

नाना पटोले ने आगे कहा, जिस तरह से वह यूपीए सरकार के दौरान ये सेलिब्रेटी ट्वीट कर रहे थे। उसी तरह उन्हें मोदी सरकार की देश विरोधी नीति में भी यही भूमिका निभानी चाहिए। अन्यथा, हम उनकी फिल्मों और शूटिंग को महाराष्ट्र में रोक देंगे।

तेल महंगाई को लेकर अमिताभ, अक्षय क्यों हैं चुप? बोलें, वर्ना फ़िल्म नहीं चलने देंगे- नाराज कांग्रेस अध्यक्ष ने दी चेतावनी
SHARES

बढ़ते हुए तेल के दामों को लेकर अभिनेता अमिताभ बच्चन (amitabh bachchan) और अक्षय कुमार (akshay kumar) की चुप्पी पर कांग्रेस के एक नेता ने नाराजगी जताई है। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले (Maharashtra congress president nana patole) का कहना है कि, केंद्र में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) सरकार के दौरान ईंधन की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ आवाज उठाने वाले अभिनेता अमिताभ बच्चन और अक्षय कुमार भाजपा (BJP) सरकार के दौरान ईंधन की कीमतों में वृद्धि पर चुप क्यों हैं? इतना ही नहीं पटोले ने यह भी चेतावनी दी है कि इन दोनों को तुरंत अपनी भूमिका स्पष्ट करनी चाहिए अन्यथा वे महाराष्ट्र में फिल्म और शूटिंग को चलने नहीं देंगे।

ईंधन की कीमतों में पिछले कुछ दिनों से हो रही लगातार बढ़ोत्तरी को लेकर कांग्रेस ने आक्रामक रुख अपना लिया है। अपनी इस आक्रामकता पर जनता का ध्यान आकर्षित करने के लिए, कांग्रेस ने उन लोकप्रिय कलाकारों को निशाना बनाना शुरू कर दिया है, जो कांग्रेस के समय तेल के दाम बढ़ने का विरोध करते थे।

मीडिया से बात करते हुए, नाना पटोले ने केंद्र सरकार के साथ-साथ मशहुर हस्तियों को निशाना बना रही है। उन्होंने कहा कि, जब केंद्र में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के दौरान पेट्रोल 70 रुपये प्रति लीटर था, तब अभिनेता अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार और अन्य हस्तियों ने ट्वीट कर ईंधन मूल्य वृद्धि के खिलाफ अपना गुस्सा प्रकट किया करते थे। लेकिन अब पेट्रोल सौ तक पहुंच गया है। गैस की बढ़ती कीमतों ने आम आदमी का जीना मुश्किल कर दिया है। ऐसी स्थिति में वे चुप क्यों हैं? क्या मोदी सरकार की तानाशाही के खिलाफ बोलने की आपकी हिम्मत नहीं है?

नाना पटोले ने आगे कहा, जिस तरह से वह यूपीए सरकार के दौरान ये सेलिब्रेटी ट्वीट कर रहे थे। उसी तरह उन्हें मोदी सरकार की देश विरोधी नीति में भी यही भूमिका निभानी चाहिए। अन्यथा, हम उनकी फिल्मों और शूटिंग को महाराष्ट्र में रोक देंगे।

पटोले के मुताबिक, केंद्र में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से आम आदमी का जीवन मुश्किल हो गया है। घरेलू गैस, डीजल, रसोई गैस की कीमतें हर दिन बढ़ रही हैं। मौजूदा समय में पेट्रोल की कीमत 96 रुपये प्रति लीटर है, जबकि डीजल की कीमत 86 रुपये प्रति लीटर है। इसके अलावा, घरेलू गैस सिलेंडर 800 रुपये का हो गया है। जबकि कोरोना संकट ने पहले से ही लाखों लोगों की आर्थिक स्थिति दयनीय हो गई है, मोदी सरकार ने ईंधन के दामों में वृद्धि करके लूट मचा रखी है।

नाना पटोले ने यह भी चेतावनी दी कि मोदी सरकार को तुरंत ईंधन मूल्य वृद्धि वापस लेनी चाहिए अन्यथा कांग्रेस सड़कों पर उतरेगी और आंदोलन शुरू करेगी।

Read this story in मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें