डब्बा वालों के लिए मुंबई में बनेंगे 5 लाख घर

मुंबई करीब 5 हजार डब्बावाले हर दिन 2 लाख लंच बॉक्स अपने ग्राहकों तक पहुंचाते हैं। इनके काम की सटीक टाइमिंग को लेकर इंग्लैंड के महाराज प्रिंस चार्ल्स तक ने सराहा है।

SHARE

डब्बावालों (dabbawala) के लिए महाराष्ट्र सरकार (maharashtra government) ने तोहफा देते हुए उनके लिए मुंबई में 5 हजार घर बनाने का निर्णय लिया है। यह घर प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas yojana ) के तहत यह मकान बनवाए जाएंगे। मंत्रालय में आयोजित हुई बैठक में अधिकारियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत डब्बावालों को मकान उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश सरकार की तरफ से दिए गए हैं।

 उपमुख्यमंत्री ने दिया निर्देश 

सरकार बनने के बाद उपमुख्यमंत्री अजित पवार (ajit pawar) ने एक बैठक में यह फैसला लिया। बैठक के बाद ट्वीट कर जानकारी दी कि मंत्रालय में आयोजित एक बैठक में अधिकारियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत डब्बावालों को मकान उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। इस बैठक में मुंबई डब्बावाला संघ के पदाधिकारी श्रम मंत्री और बाकी बड़े नेता मौजूद रहे।

आपको बता दें कि चुनाव से पहले भी कई राजनीतिक पार्टियाँ डब्बावालों को घर देने का वादा करते रहे हैं, लेकिन इस बार महाविकास आघाड़ी की सरकार बनने के बाद उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने एक बैठक में फैसला लेते हुए डब्बा वालों के लिए मुंबई में घर बनाने का आदेश पारित किया।

गौरतलब है कि डिब्बेवालों के काम के तरीके का अध्ययन कई बड़ी यूनिवर्सिटी भी कर रही हैं। सामाजिक भागीदारी के लिए डब्बावाले मुंबई में रोटी बैंक (roti bank) चलाते हैं जिससे अस्पतालों में इलाज कराने आये लोगों को मुफ्त खाना खिला सकें।

 मुंबई करीब 5 हजार डब्बावाले हर दिन 2 लाख लंच बॉक्स अपने ग्पराहकों तक पहुंचाते हैं। इनके काम की सटीक टाइमिंग को लेकर इंग्लैंड के महाराज प्रिंस चार्ल्स (prince charles) तक ने सराहा है।

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें