Advertisement
COVID-19 CASES IN MAHARASHTRA
Total:
59,08,992
Recovered:
56,39,271
Deaths:
1,11,104
LATEST COVID-19 INFORMATION  →

Active Cases
Cases in last 1 day
Mumbai
15,773
700
Maharashtra
1,55,588
10,442

दिशा सालियान और सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में नाम आने पर अब चुप्पी तोड़ी आदित्य ठाकरे ने, कही बड़ी बात

उन्होंने कहा, मैंने इन आरोपों को नजरअंदाज करना सही समझा। इसके अलावा मैंने अपना पूरा ध्यान अपने काम पर केंद्रित रखा, इसलिए इन आरोपों की तरफ मेरा ध्यान नहीं गया।

दिशा सालियान और सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में नाम आने पर अब चुप्पी तोड़ी आदित्य ठाकरे ने, कही बड़ी बात
SHARES

महाराष्ट्र (maharashtra) के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे (environment minister aditya thackeray) ने अब उन मुद्दों को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी है, जिसमें उनका नाम सेलिब्रेटी मैनेजर दिशा सालियान (disha saliyan) और सुशांत सिंह राजपूत (sushant Singh rajput) की आत्महत्या, नेपोटिज्म (nepotism) और बॉलीवुड में ड्रग प्रकरण (drug case in Bollywood) में उछाला जा रहा था। अब तक आदित्य ठाकरे (aditya thackeray) इन सभी मुद्दों पर चुप थे, लेकिन पहली बार उन्होंने इस पर बयान दिया है।

एक अखबार को दिए इंटरव्यू में, आदित्य ठाकरे ने कहा, "अगर फुटबॉल में कोई अच्छा खिलाड़ी है, तो उसे मैंन टू मैन के रूप में चिह्नित है, ताकि वह गोल न कर सके। मेसी या रोनाल्डो जैसे खिलाड़ीयो को भी इसी तरह से घेरा जाता है ताकि वे गोल न कर सकें। उसी तरह से मुझ पर व्यक्तिगत हमला किया गया क्योंकि वे मुझसे डरते हैं। लेकिन मैंने इन आरोपों को नजरअंदाज करना सही समझा। इसके अलावा मैंने अपना पूरा ध्यान अपने काम पर केंद्रित रखा, इसलिए इन आरोपों की तरफ मेरा ध्यान नहीं गया।

रहा सवाल महाविकास आघाड़ी (mahavikas aghadi) की सरकार का, तो यह सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है, इसलिए सरकार के काम के बारे में कोई सवाल नहीं उठता है। हम अगले 5 साल तक काम करेंगे, राजनीति नहीं।

उन्होंने कहा, जो लोग अब विपक्ष में हैं, वेे बॉलीवुड उद्योग को एक ड्रग-एडिक्ट उद्योग की छवि के रूप में पेश कर रहे हैं। और जब वे सत्ता में थे, तो उनके लिए सभी अच्छे थे (बॉलीवुड हस्तियां और मुंबई पुलिस)। आयोजन के लिए कलाकारों को दिल्ली भेजा जाता था,  वे केंद्रीय अधिकारियों के लिए गाने गाते थे।  उनके साथ भी उनके अच्छे संबंध थे। लेकिन सरकार के चले जाने के बाद से उन्हें बॉलीवुड, मुंबई की जनता, मुंबई पुलिस के बारे में बुरा लगने लगा है। मुंबई को ड्रग सेंटर कहा जाता था। सरकार के बदलने से उनके चश्मे की संख्या भी बदल गई होगी।  

आदित्य ठाकरे ने यह भी दावा किया कि मुंबई और महाराष्ट्र में हो रही अच्छी चीजों के कारण उनके पेट में दर्द हो रहा है और वे आरोप पर आरोप लगा रहे हैं।

Read this story in English or मराठी
संबंधित विषय
Advertisement
मुंबई लाइव की लेटेस्ट न्यूज़ को जानने के लिए अभी सब्सक्राइब करें