maharashtra politics: राज्यपाल के सामने ये 4 विकल्प

जानकारों की मानें तो अब राज्यपाल के पास चार विकल्प है। ये चार विकल्प क्या हैं आइये जानते हैं...

SHARE

अब जबकि महाराष्ट्र में किसी भी पार्टी ने भी बहुमत सिद्ध नहीं कर पाई है तो ऐसे में सरकार का गठन नहीं ही पाया है। तो ऐसे में क्या होगा महाराष्ट्र का? जानकारों की मानें तो अब राज्यपाल के पास चार विकल्प है। ये चार विकल्प क्या हैं आइये जानते हैं...

1. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी देवेंद्र फडणवीस से कार्यवाहक CM के तौर पर काम करने के लिए कहेंगे, जब तक नए सीएम नहीं बन जाते क्योंकि यह जरूरी नहीं है कि मुख्यमंत्री का कार्यकाल असेंबली के साथ ही खत्म हो जाए।

2. गवर्नर सबसे बड़ी पार्टी  बीजेपी  के नेता को सीएम नियुक्त करेंगे, जिसे वह समझें कि वह सदन में बहुमत साबित कर सकते हैं, भले ही वह बाद में फ्लोर टेस्ट में फेल हो जाए।

3. गवर्नर असेंबली से फ्लोर पर अपने नेता का चुनाव करने के लिए कह सकते हैं। अगर कोई विवाद है तो इसके लिए बैलट पेपर्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। ऐसा यूपी यूपी विधानसभा में हो चूका है

4. अगर कोई भी पर्याप्त संख्याबल के साथ सरकार बनाने का दावा नहीं करता है और पहले तीन विकल्प फेल हो जाते हैं तो गतिरोध को खत्म करने के लिए राज्यपाल राष्ट्रपति शासन की सिफारिश कर सकते हैं।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र  फडणवीस  ने शुक्रवार को राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया। 

संबंधित विषय
ताजा ख़बरें